जागरण संवाददाता। पटियाला

स्विमर और एनसीसी की नेशनल सी सर्टिफिकेट कैडिट 19 वर्षीय मनलीन कौर की बुधवार को पटियाला के एक निजी अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। परिजनों ने आरोप लगाया कि डॉक्टर की लापरवाही के कारण उनकी बेटी की मौत हुई है। परिजन करनैल सिंह धालीवाल ने निजी अस्पताल और उसके डॉक्टर के खिलाफ पुलिस के शिकायत की है। परिवार का आरोप है कि ऑपरेशन से पहले मरीज को दी जाने वाली दवा एनेस्थीसिया की डॉक्टर ने ओवरडोज दे दी। इस कारण मनलीन की मौत हुई है। घटना सोमवार 10 सितंबर की है। वहीं अस्पताल ने युवती के परिजनों के आरोपों को नकार दिया है।

रिश्तेदार करनैल ने बताया कि मनलीन को राइट ओवरी में रसौली की शिकायत थी। जिसकी जांच के लिए वह माता कौशल्या अस्पताल गए। वहा डाक्टर से जांच करवाई। वहा किसी अस्पताल कर्मचारी ने मनलीन का इलाज रोघोमाजरा स्थित सहारा अस्पताल में करवाने की सलाह दी। उन्होंने 10 सितंबर को मनलीन को इस अस्पताल में भर्ती करवा दिया। अस्पताल के डॉ. रमेश गोयल ने मनलीन का 10 सितंबर को ऑपरेशन भी कर दिया। ऑपरेशन के बाद मनलीन की हालत खराब होने लगी। अस्पताल में वेंटीलेटर की सुविधा न होने के कारण उसे एक अन्य अस्पताल में रेफर कर दिया गया। वहां पर मनलीन दो दिन से वेंटीलेटर पर थी। बुधवार को उसकी मौत हो गई। अस्पताल ने कुछ पैसे बचाने की खातिर एनथीसिया देने के लिए स्पेशलिस्ट बुलाने की बजाए खुद ही इंजेक्शन दे दिया। ओवरडोज के कारण मनलीन के फेफड़ों और दिल पर असर होने के कारण उसकी मौत हो गई। जब उन्हें पता चला कि डॉक्टर की लापरवाही के चलते मनलीन की मौत हुई है तो उन्होंने इस बारे में पुलिस को शिकायत दी। चौकी मॉडल टाउन में पीड़ित परिवार ने बयान दर्ज करवाए। शव के पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया है। वीरवार को पोस्टमार्टम के बाद बोर्ड मौत के कारणों को लेकर अपनी रिपोर्ट देगा। रिपोर्ट आने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

नहीं दी एनेस्थीसिया की ओवरडोज : एमडी

सहारा अस्पताल के एमडी डॉ. अशोक जोशी का कहना है कि मनलीन उनके अस्पताल में ही भर्ती थी। ऑपरेशन के बाद उसकी हालत खराब हो गई थी। जिसके लिए उसे दूसरे अस्पताल में रेफर कर दिया गया था। ऑपरेशन के 24 घटे बाद तक मनलीन बिलकुल ठीक थी। बुधवार को अचानक उसकी हालत खराब हुई जिसके बाद उसकी मौत हो गई। उन्होंने किसी प्रकार की एनथीसिया के ओवरडोज के बारे में साफ तौर पर मना कर दिया।

Posted By: Jagran