जेएनएन, समाना : शिअद ने पुलिस और समाना के विधायक की धक्केशाही के खिलाफ समाना सदर थाना के आगे प्रदर्शन किया। पूर्व कैबिनेट मंत्री सुरजीत सिंह रखड़ा के नेतृत्व में किए गए रोष प्रदर्शन के दौरान अकाली दल वर्करों ने पंजाब सरकार और समाना के विधायक काका राजिदर सिंह के खिलाफ नारेबाजी की। इस अवसर पर सुरजीत सिंह रखड़ा ने कहा कि पंजाब सरकार और उसके विधायक पूरी तरह से गुंडागर्दी पर उतर आए हैं। कांग्रेस विरोधी सरपंचों और आम लोगों को परेशान किया जा रहा है तथा उन्हें डरा-धमका कर कांग्रेस में शामिल होने के लिए दबाव बनाया जा रहा है। लेकिन जो सरपंच कांग्रेस विधायक की बात मानने से इन्कार कर रहे हैं। उनके खिलाफ झूठे केस दर्ज किए जा रहे हैं। इसकी मिसाल गांव डरौला की सरपंच जसविदर कौर के पति गुरमेल सिंह से मिलती है।

रखड़ा ने कहा कि गुरमेल सिंह पर पिछले कई दिनों से दबाव बनाया जा रहा था कि वह अकाली दल को छोड़ कर कांग्रेस पार्टी ज्वाइन करें। ऐसा नहीं करने पर उसे झूठे केस में फंसाने के लिए भी धमकाया जा रहा था। लेकिन गुरमेल सिंह ने जब कांग्रेस पार्टी में शामिल होने से इन्कार कर दिया तो उस पर पंचायत के लाखों रुपये हड़पने का झूठा केस दर्ज कर दिया गया है। गुरमेल सिंह के पास उप मंडल अफसर पंचायत राज लोक निर्माण मंडल पटियाला, बीडीपीओ, एसडीओ और जेई की ओर से जारी किए गए एनओसी पत्र हैं। इसके बावजूद गुरमेल सिंह पर पंचायत के लाखों रुपये हड़पने का झूठा केस दर्ज किया गया है। पंजाब सरकार सरपंचों से सरासर धक्का कर रही है। जिसे किसी भी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा। धक्का करने वाले पुलिस अफसरों विधायकों तथा उनका सहयोग करने वाले लोगों की लिस्टें तैयार की जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकारें आती जाती रहती हैं। पंजाब में अकाली दल की साकार आने पर उन सभी लोगों से पाई पाई का हिसाब लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार की इस धक्केशाही से प्रदेश की कानून व्यवस्था पुरी तरह से बिगड़ चुकी है। रोजाना जेलों में दंगा फसाद हो रहा है। इस मौके पर सुरजीत सिंह अबलोवाल ने कहा कि गुरमेल सिंह के खिलाफ एक साजिश के तहत केस दर्ज किया गया है। इसके अलावा उन्हें साजिश के तहत ही हिरासत में लिया गया है। गुरमेल सिंह शुक्रवार सुबह सुरजीत सिंह रखड़ा से भेंट कर उन्हें केस संबंधी जानकारी देने गए थे। जैसे ही गुरमेल सिंह सुरजीत सिंह रखड़ा से भेंट की वापस अपने गांव लौट रहा था। उसे पसियाणा के पास कुछ लोगों ने घेर कर मारपीट की। इसके तुरंत बाद वहां पर समाना पुलिस भी पहुंच गई और गुरमेल सिंह को हिरासत में ले लिया गया। उन्होंने समाना के विधायक और उसके इशारे पर काम कर रहे कुछ पुलिस अधिकारियों तथा वर्करों को चेतावनी देते हुए कहा कि उन्हे सब मालूम है कि वह किस तरह से लूट खसुट कर अपनी जायदादें बना रहे है। प्रदेश के अकाली दल की सरकार आने पर कांग्रेस राज्य में की गई ज्यादतियों और नाजायज तौर पर बनाई गई संपत्ति को आम लोगों के सामने बेनकाब किया जाएगा। इस मौके पर रणधीर सिंह रखड़ा, नगर कौंसिल प्रधान कपूर चंद बांसल, राणा सेखों, अमरजीत गोराया, बलदेव सिंह राजला, विनोद सिगला व अन्य सदस्य हाजिर थे। थाना इंचार्ज समाना सदर गुरदीप सिंह संधू से पूरे मामले संबंधी जानकारी हासिल करने पर उन्होंने बताया कि उपमंडल अफसर पंचायत राज्य लोक निर्माण मंडल पटियाला की शिकायत पर गांव डरौला के सरपंच गुरमेल सिंह के खिलाफ पंचायत में फंडों में घपलेबाजी करने के तहत केस दर्ज किया गया है। गुरमेल सिंह को आज इसी केस में हिरासत में लिया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!