पटियाला [बलविंदरपाल सिंह]। पंजाबी यूनिवर्सिटी के थिएटर डिपार्टमेंट के एक रिटायर्ड प्रोफेसर ने छात्रा को अश्लील एसएमएस भेज दिए। हालांकि मामला यूनिवर्सिटी वाइस चांसलर के पास भी पहुंच चुका है। बावजूद इसके वीसी मामले पर कार्रवाई को टाल रहे हैं। वीसी के इस रवैये से अंदाजा लगाया जा सकता है कि इस मामले को दबाने की कोशिश की जा रही है। दूसरी ओर यह मामला थिएटर डिपार्टमेंट में चर्चा का विषय बना हुआ है। जिस प्रोफेसर ने यह हरकत की वह पिछले समय में भी चर्चा में रह चुका है।

वीसी बोले रजिस्ट्रार से मिलो, रजिस्ट्रार ने कहा- मुझे मामले बाबत नहीं पता

मामले के संबंध में जब वाइस चांसलर डॉ. भूरा सिंह घुम्मण से बात की तो वीसी ने इस मामले पर टालमटोल करनी शुरू कर दी। वीसी ने कहा कि इस संबंधी रजिस्ट्रार से बात करें और निकल गए। रजिस्ट्रार डॉ. मनजीत सिंह निज्जर ने कहा कि उन्हें इस मामले संबंधी जानकारी तक नहीं है। न ही वीसी ने उन्हें कोई कंप्लेंट भेजी है। अगर वीसी के पास मामले संबंधी कंप्लेंट आई है, तो मुझे फार्वर्ड किया जाता है, तो तुरंत इस मामले से संबंधित प्रोफेसर पर कार्रवाई होगी।

ईमेल से वीसी को भेजी शिकायत

मामले के संबंध में एक छात्रा के अभिभावकों ने वीसी को ईमेल के जरिए शिकायत की। उन्होंने वीसी को पूरे मामले की जानकारी दी और सख्त कार्रवाई की मांग की। अभिभावकों ने यहां तक कहा कि अगर यूनिवर्सिटी ने समय रहते कार्रवाई न की तो वे मामले को उच्च अधिकारियों के सामने लाएंगे। बता दें, यूनिवर्सिटी में ऐसे मामलों पर कार्रवाई के लिए ह्रासमेंट सैल बनाया गया है। हालांकि सैल द्वारा पिछले समय में इस तरह के मामलों पर कोई सख्त कार्रवाई नहीं की गई।

रिटा. प्रोफेसर यूजीसी के प्रोजेक्ट पर कर रहा काम

अश्लील एसएमएस भेजने वाला प्रोफेसर पिछले करीब चार साल पहले रिटायर्ड हुआ था। प्रोफेसर ने रिटायरमेंट के बाद वीसी को पत्र दिया था कि वह बिना किसी वेतन के क्लास लेंगे। अब प्रोफेसर एजुकेशन मल्टी मीडिया रिसर्च सेंटर में यूजीसी के किसी प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!