जागरण संवाददाता, पटियाला

सरकारी विभागों की भर्तियां करने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे शिक्षा व हेल्थ बेरोजगार जत्थेबंदियों के सदस्यों ने शनिवार को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिदर सिंह के निवास की तरफ रोष मार्च किया।

इस दौरान वाइपीएस चौैक पर पुलिस ने उनको रोकने की कोशिश की तो उनकी पुलिस कर्मियों को साथ झड़प हुई और कुछ प्रदर्शनकारियों की पगड़ियां उतर गईं। इसके अलावा महिला प्रदर्शनकारियों के भी खींचतान हुई। बाद में पुलिस ने उनको वाईपीएस चौक पर रोक दिया और उन्होंने वहीं पर धरना देते हुए प्रदर्शन किया। इस दौरान दौरान जगसीर सिंह, संदीप सिंह गिल, जगजीत सिंह जग्गी, कर्मजीत सिंह जगजीत पुरा और राम सिंह प्रदर्शनकारियों की पगड़ियां उतरी हैं।

प्रदेश प्रधान सुखविदर सिंह ढिल्लवां ने बताया कि साल 2017 के विधानसभा चुनाव के समय बेरो•ागारों को घर घर नौकरी देने और बेरो•ागारों को भत्ता देने की बात कही गई, लेकिन वायदा पूरा नहीं हुआ। बेरो•ागारों की मांगों के हल के बारे में बातचीत करने के लिए बैठक के नाम पर बहाने बनाकर उनको वापिस भेज दिया जाता है। 27 जुलाई को बेरो•ागारों की मांगों से संबंधित शिक्षामंत्री के साथ पैनल मीटिग हुई, परंतु मीटिग पहले की मीटिगों की तरह बेनतीजा रही। शनिवार के मार्च में बेरो•ागार सांझा मोर्चा के साथ जुड़ी बेरो•ागार जत्थेबंदियों में बीएड टैट पास बेरो•ागार अध्यापक यूनियन, आल पंजाब 873 बेरो•ागार डीपीई अध्यापक यूनियन, बेरो•ागार 646 पीटीआई अध्यापक यूनियन, आर्ट एंड क्राफ्ट अध्यापक यूनियन और बेरो•ागार मल्टीपर्पज हेल्थ वर्कर यूनियन शामिल है। उनकी मागों के संबंध में अब उनको तीन अगस्त को प्रमुख सचिव सुरेश कुमार, शिक्षा सचिव कृष्ण कुमार और शिक्षामंत्री विजय इंद्र सिगला सहित सेहत विभाग से संबधित जत्थेबंदी की सेहत मंत्री बलवीर सिद्धू के साथ मीटिग तय हुई है।

प्रदेश प्रधान सुखविन्दर सिंह ढिल्लवां ने कहा कि यदि तीन अगस्त को मीटिग में कोई हल नहीं होता तो वह आगामी छह अगस्त को फिर संघर्ष करते हुए मुख्यमंत्री महल की तरफ मार्च करेंगे। इस वक्त डीटएफ के सूबा प्रधान विक्रम देव सिंह, उपप्रधान रघबीर भवानीगढ़, हरदीप टोडरपुर, अतिन्दरपाल, पंजाब स्टूडेंट्स आर्गेनाइजेशन से कुलविन्दर नदामपुर, जसपाल सिंह, गुरसंत सिंह, सुखवीर दुगाल, मनदीप सुनाम, गुरप्रीत ढींडसा, नवीन गुरदासपुर शामिल रहे।

Edited By: Jagran