जागरण संवाददाता, पटियाला : पावरकाम के सीएमडी ए. वेणू प्रसाद ने बताया कि पावरकाम ने वर्ष 2020-21 के लिए 1446 करोड़ रुपये का रिकार्ड लाभ अर्जित किया है। इस लाभ का मुख्य कारण बीते समय के दौरान स्कीम ब्याज में 1306 करोड़ रुपये की कमी, सब्सिडी के भुगतान में देरी के कारण 577 करोड़ रुपये का ब्याज मिलना, पंजाब सरकार द्वारा 570 करोड़ रुपये की ग्रांट और उपभोक्ताओं द्वारा 156 करोड़ रुपये के भुगतान में देरी कारण ब्याज की वसूली है।

सीएमडी ने कहा कि वित्तीय स्तर पर पिछले वर्ष की तुलना में कुल ऋण में चार प्रतिशत की कमी आई है और ऋणों में संशोधन कर भारी ब्याज बचत भी की गई है। उन्होंने कहा कि पावरकाम ने 150 करोड़ रुपये की बचत की है। बेहतर प्रबंधन तकनीकों के माध्यम से वित्तीय संसाधन प्राप्त किए गए। सीएमडी ने कहा कि ट्रांसमिशन और डिस्ट्रीब्यूशन लॉस पिछले साल के 14.87 प्रतिशत के मुकाबले केवल 14.46 प्रतिशत थे। पावरकाम ने और सुधार के लिए 96000 स्मार्ट मीटर खरीदे हैं, जिनमें से 13 हजार मीटर मोहाली, लुधियाना, जीरकपुर, जालंधर और पटियाला में विभिन्न घरेलू वाणिज्यिक और औद्योगिक उपभोक्ताओं के लोड सर्वेक्षण के बाद लगाए गए हैं। इसके अलावा इन स्मार्ट मीटरों को भविष्य में प्रीपेड मीटर के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है जिससे उपभोक्ता अपने बिजली बिल को नियंत्रित कर सकेंगे, शिकायतों के समाधान में मदद मिलेगी।

Edited By: Jagran