जागरण संवाददाता.पटियाला

वेतन कटौती का विरोध कर रहे 5 अध्यापक नेताओं को टर्मिनेट करने के बाद अध्यापक जत्थेबंदियों के दो बड़े संगठन एक मंच पर इकट्ठे हो गए हैं। अध्यापक साझा मोर्चा और शिक्षा बचाओ मंच की करीब 35 जत्थेबंदियां ने इकट्ठे होकर अध्यापक संघर्ष कमेटी का गठन किया गया। सरकार की अध्यापक और शिक्षा विरोधी नीतियों का जवाब देने के लिए बलकार वल्टोहा की अध्यक्षता में साझा अध्यापक मोर्चा और सरकारी स्कूल शिक्षा बचाओ मंच की साझा बैठक हुई। इसमें संघर्ष को और तेज करने और बड़ा हुआ रूप देने के लिए अध्यापक संघर्ष कमेटी का गठन किया गया। अध्यापक संघर्ष कमेटी 21 जनवरी को अमृतसर में बैठक करेगी। 22 जनवरी को राज्य में जिला स्तर पर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करके सरकार का पुतला जलाएगी और 27 जनवरी को शिक्षा मंत्री को जवाब देने के लिए अमृतसर में राज्य स्तरीय रोष रैली की जाएगी। अध्यापक नेता बलकार ¨सह वलटोहा ने बताया कि लगभग पिछले डेढ़ साल से पंजाब के समूह अध्यापक सरकार की ज्यादतियों के खिलाफ सड़कों पर उतरे हैं। इसके तहत जगह-जगह अर्थी फूंक मुजाहरे, चक्का जाम, मर्ण वर्त, पक्का मोर्चा और बड़ी-बड़ी रैलियां की गई। 800 प्राइमरी स्कूल बंद करने से शुरू हुआ संघर्ष, वेतन कटौती, 5178 को रेगुलर करना, पुरानी पेंशन लागू करना, डीए, पे-कमिशन की रिपोर्ट लागू करना, सभी कच्चे अध्यापक और वालंटियर को पक्का करना, सोसायटियों वाले अध्यापकों को विभाग में शामिल करना आदि मांगों को मनवाए बिना विक्टेमाईजेशनों, सस्पेंशनों और टर्मिनेशनों पर आ चुका है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!