जागरण संवाददाता, पटियाला : पंजाबी यूनिवर्सिटी में टी¨चग व नॉन टी¨चग मुलाजिमों ने अपनी मांगो को लेकर वीसी दफ्तर का घेराव किया। इस दौरान उन्होंने वीसी दफ्तर के आगे धरना लगाकर यूनिवर्सिटी प्रशासन के खिलाफ रोष प्रदर्शन भी किया। धरने पर बैठे मुलाजिमों का कहना था कि पिछले लंबे समय से सैलरी समय पर नहीं मिल रही। जिसके कारण विभिन्न परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। धरने की अगुवाई कर रहे प्रो. बल¨वदर ¨सह टिवाणा ने कहा कि सरकार की तरफ से मिलने वाली ग्रांट से यूनिवर्सिटी का खर्च कहीं ज्यादा है। जिसके चलते सरकार को अपनी ग्रांट में बढ़ावा करने की जरूरत है। मौजूदा समय में पंजाबी यूनिवर्सिटी स्टूडेंट्स से मिलने वाली फीस पर ही निर्भर है।

इस मौके डीटीएफ के कनवीनर डॉ. जस¨वदर ¨सह बराड़ ने कहा कि यूनिवर्सिटी के हालात बहुत ज्यादा गंभीर बन चुके हैं। वीसी डा.भूरा ¨सह घुम्मण मुलाजिमों से मिलने से बदले भाग रहे हैं। डा. गुरनाम ¨सह विर्क व बलवंत ¨सह ने ने कहा कि हर बार कहा जाता है कि मुलाजिम अपनी जिम्मेदारी से काम करें। पर मुलाजिमों को समय पर सैलरी देने में यूनिवर्सिटी के नाकाम साबित रही है। वीसी ने मुलाजिमों से विभिन्न वादे किए जोकि आज तक पूरी नहीं किए। धरने के दौरान डॉ. निशान ¨सह ने यूनिवर्सिटी प्रशासन को चेतावनी देते कहा कि अगर तुरंत मुलाजिमों के मामलों को हल नहीं किया गया तो सभी नॉन टी¨चग व टी¨चग मुलाजिम एक साथ संघर्ष को बड़ा रूप देगे। जिसकी जिम्मेदारी यूनिवर्सिटी प्रशासन की होगी।

Posted By: Jagran