पटियाला, जागरण संवाददाता: आतंकी हरविंदर सिंह रिंदा के साथी गैंगस्टर एसके खरौड़ के साथ खूनी झड़प के बाद फरार चल रहे दो लोगों को पटियाला पुलिस ने गिरफ्तार किया है। सीआइए स्टाफ पटियाला की टीम ने स्पेशल आपरेशन के दौरान इन दोनों को काबू किया है, जिनकी पहचान रविंदर सिंह उर्फ बिंदा गुर्जर निवासी गांव चंपारण थाना जुल्का व गुरविंदर सिंह उर्फ गुंदर निवासी गांव पसियाणा के रूप में हुई है।

एसएसपी वरुण शर्मा ने सोमवार को प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान बताया कि यह कार्रवाई एसपी डी हरबीर अटवाल, डीएसपी डी सुखअमृत रंधावा की देखरेख में इंस्पेक्टर शमिंदर सिंह व उनकी टीम ने की है। यह आरोपित तीन दिन के पुलिस रिमांड पर चल रहे हैं और इन लोगों से चार पिस्टल 32 बोर के और 20 कारतूस बरामद हुए हैं। यह दोनों आरोपित पटियाला नंबर की स्कोडा कार में सवार होकर लचकानी बस अड्डे भादसों रोड से गुजर रहे थे, जहां से इन्हें 26 नवंबर को गिरफ्तार किया था।

गैंगस्टर एसके खरौड़ व उसके साथियों का नाम थाना अनाज मंडी इलाके में शमशेर सिंह कत्ल केस में आया था। इसके बाद थाना त्रिपड़ी इलाके में कांग्रेस सरपंच तारा दत्त का गोलियां मार कत्ल कर दिया गया था। इन वारदातों के बाद से ही उक्त आरोपित फरार चल रहे थे क्योंकि इन लोगों के खिलाफ नौ केस दर्ज होने पाए गए हैं।

साल 2022 में तारा दत्त कत्ल केस बाद रविंदर सिंह उर्फ बिंदा गुर्जर हरियाणा के गैंगस्टर अमित गुर्जर के साथ हाथ मिलाने के बाद गिरोह बढ़ाने की कोशिश में थे। पटियाला में किसी वारदात को करने के लिए पहुंचे इन दोनों को पुलिस ने समय रहते काबू कर लिया है।

रविंदर सिंह 12वीं पास 27 साल का तीन केसों में शामिल पाया गया है। वहीं गुरविंदर सिंह बारहवीं पास 37 साल का आरोपित है। सनौर से भी दो आरोपित काबू किए एसएसपी ने बताया कि उक्त केस के अलावा सनौर थाना एरिया से दो लोगों को हथियार सहित काबू किया है।

इन आरोपितों की पहचान शमशाद अली उर्फ शाद निवासी गांव झिंजरां थाना मुलेपुर जिला फतेहगढ़ साहिब व अरमान अली निवासी आदर्श कालोनी पटियाला के रूप में हुई है। इन दोनों को 26 नवंबर को देवीगढ़ रोड स्थित जौड़ियां सड़क से गिरफ्तार किया है।

इन लोगों से दो अवैध हथियार व छह जिंदा कारतूस बरामद किए हैं। आरोपित शमशाद अली तीस साल का दसवीं पास है, जो इलेक्ट्रीशियन का काम करते हुए अपराधी बन गया। दूसरा आरोपित अरमान अली 12वीं पास 26 साल का है, जो मजदूरी करता था।

Edited By: MOHAMMAD AQIB KHAN

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट