जागरण संवाददाता, पटियाला : दिल्ली-जम्मू-कटड़ा एक्सप्रेस-वे के खिलाफ संघर्ष कर रही रोड संघर्ष कमेटी के प्रमुख नेताओं की मीटिग मंगलवार को पीडब्ल्यूडी व एजुकेशन मंत्री विजयइंद्र सिगला के साथ 11 बारादरी स्थित सर्किट हाउस में तय हुई थी। कमेटी के कोआर्डिनेटर हरमनप्रीत सिंह डिक्की अपने समर्थकों के साथ तय समय से आधा घंटा पहले ही सर्किट हाउस पहुंच गए। काफी देर इंतजार करने के बाद भी जब मंत्री सहित कोई भी प्रशासनिक अधिकारी सर्किट हाउस नहीं आया तो डिक्की ने समर्थकों के साथ सर्किट हाउस के मुख्य गेट के आगे धरना लगा दिया और वो सड़क पर ही लेट गए। करीब सात घंटे सर्कट हाउस के बाहर डिक्की अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठे रहे। यह हंगामा शाम करीब साढ़े पांच बजे तक चलता रहा। इस दौरान काफी संख्या में पुलिस कर्मचारी भी तैनात कर दिए गए। करीब पौने छह बजे किसानों को डिप्टी कमिश्नर व एसएसपी ने मीटिग के लिए बुलाया।

मीटिंग में डीसी ने किसान नेताओं की बैठक संबंधित विभाग के अधिकारी सहित सरकार से मीटिग करवाने का भरोसा दिया। मीटिग में किसान नेताओं ने सीएम आवास के नजदीक खड़े किए ट्रैक्टर ट्रालियों को हटाने का फैसला किया। इस दौरान किसानों ने 30 अप्रैल को निकाले गए ट्रैक्टर मार्च के दौरान पैदा हुई तनावपूर्ण स्थिति के लिए अफसोस जताते हुए किसानों के खिलाफ दर्ज एफआइआर रद करवाने की मांग की। इस पर मीटिंग में मौजूद एसएसपी विक्रमजीत दुग्गल ने कहा कि किसी के साथ धक्का नहीं होने दिया जाएगा। एसएसपी ने कहा कि भविष्य में किसान कोई ऐसी हरकत नहीं करेंगे जिससे अमन कानून की स्थिति बिगड़े। अगर ऐसा कुछ होता है तो जो लोग ऐसा करेंगे उसका किसान संघर्ष कमेटी साथ नहीं देगी। उनके खिलाफ पुलिस द्वारा सख्त कार्रवाई की जाएगी। उधर, किसान नेता सुखदेव सिंह ढिल्लों ने कहा कि डीसी व एसएसपी ने भरोसा दिया है कि उनकी जल्द ही मीटिग सरकार के साथ करवाई जाएगी। मीटिग में एसपी सिटी वरुण शर्मा, एसडीएम चरनजीत सिंह के अलवा किसान नेता बिक्रमजीत सिंह मोगा, गुरदयाल सिंह अमृतसर,राजबिदर सिंह हुंदल, गुरदासपुर से बलविदर सिंह, दलजीत सिंह, गुरजीत सिंह, पटियाला जिले से जगजीत सिंह गलोली, कुलदीप सिंह तरनतारन, जगजीत सिंह मौजूद रहे। सीएम आवास के चारों तरफ बैरिकेड व मिट्टी से भरे टिप्पर लगाए

एक्सप्रेस वे के खिलाफ वाइपीएस चौक व सूल्लर रोड स्थित पुलिस चौकी के नजदीक धरने पर बैठे किसानों के डर से पुलिस प्रशासन ने सीएम आवास के चारों तरफ बैरिकेड व मिट्टी से भरे टिप्पर लगा दिए। जिसके चलते सीएम आवास की ओर जाने वाली सभी सड़कों को पूर्ण तौर पर बंद कर दिया गया। उधर, धरने पर बैठे किसानों का कहना है कि जब तक उनको मौजूदा समय रेट के हिसाब से जमीनी रेट नहीं मिलता, तक वह अपना धरना सीएम आवास के नजदीक जारी रखेंगे। जानकारी अनुसार किसानों को वाइपीएस चौक पर धरने पर बैठे हुए करीब 39 दिन के करीब हो चुके है। बावजूद इसके उनकी मांगो का हल नहीं निकला।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021