जेएनएन, नाभा पटियाला

नाभा जेल ब्रेक कांड में डिसमिस पुलिस कर्मी मन¨जदर ¨सह को वीरवार पैमलप्रीत ग्रेवाल कहल की अदालत में पेश किया गया। जहां से उसे 18 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में भेजने के आदेश जारी किए। मामले की जांच कर रहे थाना कोतवाली के एएसआइ जसवंत ¨सह की निगरानी में पुलिस कर्मियों ने मन¨जदर ¨सह को कड़ी सुरक्षा के बीच पेश किया, जहां पत्रकारों से बातचीत करते हुए मन¨जदर ¨सह ने कहा कि उसे जानबूझ कर पुलिस द्वारा इस मामले में फंसाया गया है, जबकि पुलिस का कहना है कि उसने ही आरोपियों को पगड़ी बांधनी सिखाई थी। वह खुद स्पो‌र्ट्स कोटे रेस¨लग में राष्ट्रीय स्तर का खिलाड़ी है उसे सही ढंग से पगड़ी बांधनी नहीं आती वह किसी को पगड़ी बांधनी क्या सिखाएगा। उसने यह भी कहा कि वह ठेके पर जमीन लेकर अपने परिवार को पालता है। पुलिस उसे समय समय पर परेशान करती रहती है। उसने कहा कि पुलिस के जुल्मों से तंग होकर ही लोग गलत ढंग का रास्ता अपनाते हैं। मन¨जदर ¨सह की तरफ से एडवोकेट सर¨वदर ¨सह ग्रेवाल पेश हुए थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!