प्रेम वर्मा, पटियाला

मैक्सिमम सिक्योरिटी जेल नाभा में लगे जैमर 4जी नेटवर्क जाम करने में फेल साबित हो रहे हैं। टेलीकॉम कंपनी की ओर से मोबाइल सर्विस बेहतर करते हुए फास्ट इंटरनेट के लिए 4जी लांच किया था। इसके बाद साल 2017 के नवंबर की 27 तारीख को नाभा जेल ब्रेक हुई थी। जेल ब्रेक होने के पीछे एक बड़ी वजह जेल के अंदर मोबाइल फोन इस्तेमाल होना बताया गया था। जेल के जैमर सिर्फ 3जी और 2जी नेटवर्क जाम करते हैं, मगर जेल में बैठे गैंगस्टर 4जी नेटवर्क वाले फोन व सिम कार्ड इस्तेमाल करते थे।

जेल ब्रेक के बाद लगातार हो रही गिरफ्तारियों के दौरान इस बात का खुलासा हुआ था। इसके बाद जेल अधिकारियों ने तुरंत टेक्निकल टीम को लेटर भेजा था। इस टीम ने जेल में जैमर को 4जी नेटवर्क को जाम करने योग्य बनाने के लिए नया साफ्टवेयर इंस्टाल करना था। टीम ने एक बार जेल में विजिट भी की, लेकिन अभी तक इस नेटवर्क को जाम करने के लिए इंतजाम नहीं हो पाए हैं। सुरक्षा को लेकर आधुनिक हथियार व स्टाफ की बढ़ोत्तरी से लेकर जेल के बाहर पुलिस मुलाजिम तैनात कर दिए हैं, लेकिन मोबाइल इस्तेमाल को रोकने के लिए जैमर पर काम नहीं कर पाए।

अब हर बुधवार होती है हथियार चलाने की प्रैक्टिस

जिले की चारों जेलों मैक्सिमम सिक्योरिटी जेल, नई जेल नाभा, ओपन जेल नाभा और सेंट्रल जेल पटियाला को कुल 200 आधुनिक हथियार मिले हैं। इनमें एलएमजी (लाइट मशीनगन), एसएलआर, रिवाल्वर- पिस्टल आदि शामिल हैं। चारों जेलों में 62 नए मुलाजिमों को तैनात किए हैं। मैक्सिमम सिक्योरिटी जेल नाभा में 40, नई जिला जेल नाभा में 7, सेंट्रल जेल पटियाला जेल में 11 और ओपन जेल नाभा में 4 नए पुलिस मुलाजिम लगाए हैं। यह सभी मुलाजिम आधुनिक हथियारों से लैस हैं, इनके लिए हथियार चलाने के अभ्यास से लेकर शारीरिक फिटनेस के पूरे इंतजाम हैं। अब हर बुधवार को जेल के स्टाफ को हथियार चलाने की प्रैक्टिस करवाई जाती है। वहीं जेल के बाहर हर समय पीसीआर की गाड़ी तैनात रहती है कि बाइक पर पेट्रो¨लग करने वाली पीसीआर टीम लगातार जेल के चारों तरफ लगातार चक्कर काटती है। वहीं जेल के बाहर पीसीआर की राइफल से लैस गाड़ी व टीम को 24 घंटे तैनात रहने के निर्देश हैं। इसकी वजह यह भी है कि जेल से भागने वाले आतंकवादी हर¨मदर ¨सह ¨मटू व गैंगस्टर विक्की गौंडर के साथियों सहित जेल ब्रेक में शामिल कुल 28 लोगों को पुलिस एक साल के दौरान गिरफ्तार कर जेल में बंद कर चुकी है। गैंगस्टर विक्की गौंडर व कश्मीरा अभी भी फरार हैं, जिन्हें पकड़ने के लिए पुलिस टीम काम कर रही है।

बाकी सब इंतजाम कर दिए हैं, जैमर के लिए टीम को बुलाया: सुपरिटेंडेंट

हर बुधवार को मुलाजिमों को हथियार चलाने की प्रैक्टिस करवाते हैं। जेल को आधुनिक हथियार मिल चुके हैं, जबकि स्टाफ की जरूरत भी लगभग पूरी हो चुकी है। रही बात जैमर की तो यह काम टेक्निकल टीम का है, जिन्हें 4जी नेटवर्क रोकने के लिए लिख चुके हैं। टीम ने एक बार जेल में मुआयना भी किया है, जल्द ही इसे भी अपडेट कर लेंगे।

कुलवंत सिंह, सुपरिंटेंडेंट नाभा मैक्सिम सिक्योरिटी जेल

जेल के बाहर सुरक्षा के पूरे इंतजाम : डीएसपी

जेल के बाहर सुरक्षा को लेकर लोकल पुलिस को पूरी तरह से अलर्ट कर दिया है। जेल अधिकारियों से लगातार मी¨टग भी करते हैं, ताकि सुरक्षा में किसी भी तरह की कमी न रहे। जेल ब्रेक में शामिल तकरीबन सभी आरोपी पकड़ लिए हैं, लेकिन अभी भी पड़ताल जारी है। जो भी सूचना मिलती है, तुरंत उसे फॉलो करते हैं, ताकि विक्की गौंडर को पकड़ सकें।

चंद सिंह, डीएसपी

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!