दीपक मौदगिल. पटियाला

अमलोह से काग्रेसी विधायक काका रणदीप सिंह इस लोकसभा चुनाव में पटियाला सीट से काग्रेसी उम्मीदवार परनीत कौर के हक में प्रचार करने के लिए फिलहाल चुप्पी साधे हुए हैं। इस बारे में उनका कहना है कि वह अमलोह से विधायक हैं और यह फतेहगढ़ साहिब सीट का हिस्सा है तो वह इस सीट से अपनी पार्टी के लिए जमकर प्रचार करेंगे। बीते लोकसभा चुनाव में भी प्रचार किया था और पार्टी को अमलोह से करीब साढ़े आठ हजार की बढ़त भी दिलवायी थी।

बता दें कि पटियाला संसदीय सीट से पार्टी टिकट के लिए काका रणदीप पूर्व में कई बार बयानबाजी कर चुके हैं। वह कहते रहे हैं कि चार बार एमएलए बनने के कारण वह भी सीनियर हैं और उनका भी पटियाला सीट से टिकट मागना अधिकार है। बहरहाल अब जबकि पार्टी हाईकमान ने पटियाला सीट से परनीत कौर टिकट दे दिया है तो दैनिक जागरण के साथ बातचीत में काका रणदीप ने कहा कि यह पार्टी हाईकमान का फैसला है और वह हाईकमान के प्रत्येक फैसले का सम्मान करते हैं। परनीत कौर के हक में प्रचार किए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि चाहे वह पहले नाभा से विधायक रहे हैं लेकिन अब जबकि नाभा में पहले ही कैबिनेट मंत्री के रूप में साधू सिंह धर्मसोत सीनियर लीडर मौजूद है तो निश्चित रूप से उक्त सीनियर लीडर ही पटियाला से पार्टी कैंडिडेट के लिए प्रचार करेंगे। बहरहाल उन्होंने कहा कि पार्टी जैसी जिम्मेदारी सौंपेगी, वह उक्त जिम्मेदारी को निश्चित रूप से निभाएंगे। एक परिवार से एक ही मेंबर को चुनाव को टिकट दिए जाने के सिद्धात पर काका रणदीप ने कहा कि यह देखना भी पार्टी हाईकमान की ही ड्यूटी है और वह पार्टी हाईकमान के साथ हर तरह से खड़े हैं।

Posted By: Jagran