जेएनएन, भादसों, (पटियाला) : बहु चर्चित संधू कॉलोनी मामले में नगर पंचायत दफ्तर के पास कोई रिकॉर्ड नहीं है। इस बात की जानकारी आरटीआइ से हुई है। अवैध ढंग से काटी गई कालोनी का रिकॉर्ड गायब होने से मामले में नया मोड़ आ गया है। नरिदर सिंह ने आरटीआइ के माध्यम से जानकारी मांगी थी। अनधिकृत तौर पर काटी गई संधू कॉलोनी का मामला पिछले कई सालों से चल रहा है। इस संबंधित विभाग के कई उच्च अधिकारियों, माल विभाग के अधिकारियों और पुलिस विभाग के उच्च अधिकारियों की तरफ से समय समय पर मामले की जांच के आधार पर कईयों पर केस भी दर्ज किए गए हैं। नरिदर सिंह ने बताया कि इस मामले संबंधित कॉलोनाईजरों की तरफ से 21 जुलाई 2016 को निशानदेही संबंधित दर्खास्त दी गई थी, जिसकी कापी लेने के लिए उसने आरटीआइ एक्ट के अंतर्गत सूचना मांगी थी, परंतु नगर पंचायत की तरफ से यह जवाब भेजा गया कि इस संबंधित रिकार्ड में मौजूद नहीं है। उसने आरोप लगाया कि कार्य साधक अफसर सहित समूचे दफ्तरी अमले ने मिलीभगत के साथ यह रिकॉर्ड गुम किया है क्योंकि शामलाट जमीन और नाजायज प्लाट काटने वाले कॉलोनाइजरों की अंदर खाते मदद की गई। उसने उच्चाधिकारियों से अपील की है कि इस मामले की उच्च स्तरीय जांच की जाए और मामले सबंधित आरोपितों के खिलाफ बनती कार्रवाई की जाए।

क्या कहते हैं इस बारे कार्य साधक अधिकारी

कार्य साधक अधिकारी अशीष कुमार ने कहा कि आरटीआइका जवाब देते समय रिकार्ड चेक किया गया तो उस वक्त उक्त रिकॉर्ड उपस्थित नहीं था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!