जागरण संवाददाता, पटियाला : एनएचएम पंजाब के समूह मुलाजिमों ने मांगें पूरी करवाने को लेकर सरकार के खिलाफ संघर्ष का एलान कर दिया है। इस दौरान जिला प्रधान नवदीप सिंह ने बताया कि राज्य में सेहत विभाग में राष्ट्रीय सेहत मिशन पंजाब के तहत 12 हजार मुलाजिम पिछले 12-15 वर्षों से बिलकुल कम वेतन पर काम कर रहे हैं। सरकार द्वारा 36 हजार कच्चे मुलाजिमों को पक्का करने की बात कही जा रही है जोकि सिर्फ चुनाव तक का ड्रामा है। पर कोरोना काल के दौरान अपनी सेवाएं निभाने वाले एनएचएम मुलाजिमों की मांग को सरकार अनदेखा कर रही है। इसके कारण मुलाजिमों में सरकार के प्रति रोष बढ़ता ही जा रहा है। उन्होंने बताया कि राजस्थान व आंधरा प्रदेश, हिमाचल प्रदेश व तमिलनाडू में राष्ट्रीय सेहत मिशन तहत काम कर रहे मुलाजिमों को रेगुलर किया गया है। इसलिए एनआरएचम इंप्लाइज एसोसिएशन द्वारा एनआरएचएम यूनियन के आह्वान पर एनएचएम कर्मचारियों द्वारा कलमछोड़ हड़ताल का एलान किया गया है। इस दौरान लवलिदर सिंह, हरीश कुमार, रघबीर सिंह, अमित जैन, मोनिका शर्मा मौजूद रहे।

Edited By: Jagran