जेएनएन, पटियाला। थाना कोतवाली के अंतगर्त आते घलौड़ी गेट एरिया के श्मशान घाट के चौकीदार की अज्ञात लोगों ने तेजधार हथियारों से हत्या कर दी। हत्या के बारे में सुबह उस समय पता चला जब इलाके में सैर करने वाले लोगों व श्मशान के पुजारी ने चौकीदार ओमप्रकाश (70) की लाश खून से लथपथ देखी।

पुलिस के पास सोमवार सुबह करीब साढ़े सात बजे सूचना पहुंची, जिसके बाद थाना कोतवाली इंचार्ज सुखदेव सिंह व डयूटी अफसर निर्मल सिंह घटनास्थल पर पहुंचे। इस दौरान परिवार के लोगों ने श्मशान घाट आकर लाश की शिनाख्त की, जिसके बाद पुलिस ने लाश कब्जे में लेने के बाद राजिंदरा अस्पताल की मोर्चरी भिजवा दी। कोतवाली थाना के इंचार्ज सुखदेव सिंह ने बताया कि फिलहाल मृतक ओमप्रकाश के बेटे मोनू शर्मा के बयानों के आधार पर अनजान लोगों के खिलाफ कत्ल का केस दर्ज कर लिया है।

श्मशानघाट में ही रहते थे ओमप्रकाश

घलौड़ी गेट श्मशान घाट के चौकीदार ओमप्रकाश मूलरूप से सनौर के रहने वाले थे। वह करीब बीस सालों से श्मशान घाट में बतौर चौकीदार काम कर रहे थे। बाद में कुछ समय के लिए उन्होंने नौकरी छोड़ दी थी, लेकिन पिछले करीब 15 सालों से वह लगातार इस श्मशान घाट पर नौकरी कर रहे थे। वह इसी श्मशान घाट में रहते थे और चौकीदारी करने के अलावा मुर्दों को जलाने की डयूटी भी देते थे। रविवार रात को वह रोजाना की तरह श्मशान घाट में अकेले ही चौकीदारी कर रहे थे।

शाम के समय उनकी आसपास के लोगों के साथ कुछ देर बातचीत हुई, जिसके बाद सभी अपने-अपने रास्ते निकल गए। सोमवार सुबह जबह श्मशान घाट के आसपास सैर करने वालों ने देखा कि चौकीदार आज दिखा नहीं तो वह श्मशान घाट के अंदर गए। इतने में श्मशान घाट के पुजारी भी आए तो इन लोगों ने देखा कि ओमप्रकाश की खून से लथपथ लाश पड़ी थी, उसके सिर पर तेजधार हथियारों से वार करके कत्ल किया हुआ था।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!