प्रेम वर्मा, पटियाला : सीएम सिटी में मसाज सेंटर की आड़ में जिस्मफरोशी करवाए जाने के राजफाश के बाद अब अर्बन एस्टेट इलाका मसाज सेंटर के नाम पर जिस्मफरोशी का कारोबार करवाने को लेकर सुर्खियों में आ गया है। शुक्रवार देर रात कुछ लोगों ने अर्बन एस्टेट फेस दो में सेंटर में जिस्फरोशी होने की वीडियो बनाए जाने का दावा करते हुए हंगामा कर दिया। हंगामे के बाद पहले तो सेंटर के संचालक मौके से खिसक गए, उसके बाद मीडिया कर्मी भी रफूचक्कर हो गए। कुछ देर बाद फोन पर इन सेंटर संचालकों को धमकियां मिलने लगीं। उधर रात को हुए हंगामे के बाद पुलिस पार्टी गश्त करते हुए मौके पर पहुंची। यहां पर किसी भी तरह की कोई शिकायत न मिलने पर पीसीआर की टीम लौट आई। घटना को लेकर 24 घंटे बीत जाने के बाद भी किसी भी पक्ष द्वारा कोई लिखित शिकायत नहीं दी गई। ऐसे में थाना अर्बन एस्टेट पुलिस अपने स्तर पर ही इस मामले की जांच में जुट गई है क्योंकि इस समय अर्बन एस्टेट में दस के करीब मसाज सेंटर चल रहे हैं। यह है पूरा मामला

घटना के अनुसार अर्बन एस्टेट फेस दो स्थित गुरुद्वारा साहिब के बगल में बनी मार्केट में कुछ जिम खुले हैं। इन जिम वाली बिल्डिग के आसपास कुछ मसाज सेंटर खुले हुए हैं। एक सेंटर में पहुंचे लोगों ने मसाज के बाद अंदर जाकर पूरी सर्विस ली और बाहर निकलने के बाद वहां जिस्मफरोशी करवाने का आरोप लगा दिया। यही नहीं इस सर्विस के दौरान वीडियो बना इसे इंटरनेट पर चलाने की धमकी दे डाली। उक्त लोगों द्वारा खुद को मीडियाकर्मी बताए जाने के बाद सेंटर का संचालक खिसक गया, वहीं स्टाफ ने संचालक से बात करने को कहा। बावजूद इसके वीडियो बनाने वालों ने स्टाफ व रिसेप्शन पर खड़ी लड़कियों को धमकाना शुरू कर किया तो हंगामा हो गया। हंगामे की सूचना नजदीकी पीसीआर को मिली तो वीडियो बनाने वाले भी मौके से खिसक गए। उक्त मसाज सेटर पुलिस स्टेशन अर्बन एस्टेट फेस दो से महज एक किलोमीटर के दायरे में खुले हुए हैं। कार्रवाई न करने का एक कारण यह भी

सेहत विभाग के अंतर्गत आते ड्रग कंट्रोल विग के अधिकारियों द्वारा किसी भी मसाज सेंटर या स्पा सेंटर में जाकर वहां पर इस्तेमाल होने वाले हेल्थ संबंधी प्रोडक्ट की जांच नहीं की जाती है। इन सेंटरों में महज मसाज के लिए आने वालों पर सेहत संबंधी प्रोडक्ट इस्तेमाल कर दवाएं दी जाती हैं। इन सेंटरों पर इस्तेमाल होने वाली दवाओं की चेकिग के लिए सेहत महकमा ने आज तक रेड नहीं की और अधिकारियों को इस कार्रवाई को लेकर कोई जानकारी तक नहीं। पहले भी पकड़े जा चुके हैं मसाज सेंटर

1. थाना कोतवाली पटियाला के अंतर्गत आते ओमेक्स माल के अंदर मसाज सेंटर की आड़ में चल रहे जिस्मफरोशी के कारोबार को कुछ महीने पहले ही पूर्व थाना इंचार्ज गुरप्रताप सिंह ने पकड़ा था।

2. करीब एक महीने पहले पातड़ां कार बाजार के नजदीक मसाज सेंटर से युवक व युवतियां गिरफ्तार की गई थीं।

3. करीब दो महीने पहले थाना सिविल लाइन पुलिस ने भादसों रोड में अड्डे से युवक व युवतियां पकड़ी थीं। ----------------------

हंगामे के बावजूद किसी भी पक्ष द्वारा शिकायत दर्ज नहीं करवाई गई, जिससे साबित होता है कि दोनों गुट ही सही नहीं है। ऐसे में पुलिस टीम अपने स्तर पर सभी सेंटरों की जांच कर बनती कार्रवाई करेगी।

-रौणी सिह, थाना अर्बन एस्टेट के इंचार्ज।

Edited By: Jagran