जागरण संवाददाता, पटियाला, राजपुरा : थाना सिटी राजपुरा इलाके में भू्रण जांच करने के मामले में गिरफ्तार किए आरोपितों को शनिवार को अदालत में पेश किया। अदालत ने दोनों आरोपितों कृष्ण गोपाल निवासी छोटा बाजार अंबाला शहर हरियाणा व उसे साथी राम मूर्ति निवासी हरी नगर पुराना राजपुरा को तीन दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा है।

इन लोगों आरोपितों को हरियाणा के करनाल इलाके के सिविल सर्जन डा. यशपाल शर्मा की टीम द्वारा पकड़ने के बाद राजपुरा मेडिकल अफसर के सौंप दिया। जिसके बाद मेडिकल अफसर राजपुरा जगपाल इंदर के बयानों पर केस दर्ज किया गया है। इन लोगों से टीम ने अल्ट्रासाउंड करने वाली पोर्टेबल मशीन व अन्य सामान बरामद किया था। मामले की जांच कर रहे एएसआइ नरिद्र सिंह ने बताया कि अदालत ने आरोपितों को तीन दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया। पुलिस रिमांड दौरान आरोपितों से उक्त मामले को लेकर पूछताछ की जाएगी ताकि पूरी जानकारी मिल सके।

सरकारी अस्पताल के बाहर करते थे जांच

घटना के अनुसार हरियाणा के सिविल सर्जन को सूचना मिली थी कि राजपुरा में किसी जगह पर गैरकानूनी लिग जांच करने का धंधा चल रहा है। पुख्ता जानकारी मिलने पर डा. यशपाल ने तीन डाक्टरों की टीम का गठन किया। रेड को पूरी तरह से गुप्त रखा गया और पटियाला के सिविल सर्जन की नोटिस में मामला लगाया लेकिन रेड की जगह नहीं बताई। हरियाणा से टीम पहुंची तो देखा कि लिग जांच का गैरकानूनी काम राजपुरा के सरकारी अस्पताल के बाहर खस्ताहाल कमरे में चल रहा था। टीम ने रेड कर मौके से आरोपित व कमरे से पोर्टेबल अल्ट्रासाउंड मशीन, फर्जी ग्राहक को दिए नंबरी नोट सहित बाकी सामान बरामद किया गया।

Edited By: Jagran