पटियाला, जेएनएन। मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने यहां किसान कर्ज माफी के दूसरे चरण की शुरुआत की। इस दौरान उन्‍होंने पंजाब के किसानों को राहत देने के लिए केंद्र सरकार से कई कदम उठाने की मांग की। अमरिंदर सिंह ने कहा कि सेंट्रल एशियाई देशों में पंजाब की चीनी व आलू के निर्यात से पंजाब के किसानों को काफी फायदा होगा। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर इन वस्तुओं को बीते दिनों निर्यात सूची में शामिल करने के लिए कहा है।

कहा, आलू के निर्यात शुरू करे केंद्र, इससे राज्य के गन्ना व आलू उत्पादकों को भी होगा फायदा 

उन्होंने कहा कि अगर भारत सरकार, पंजाब को यह वस्तुएं निर्यात करने की इजाजत दे देती है, तो इससे राज्य के गन्ना किसानों व आलू उत्पादकों को काफी फायदा होगा। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि कर्ज माफी का अभियान बासमती व खेती रासायनों के उचित प्रयोग करने के लिए किसानों को जागरूक करना शुरू किया गया है।

उन्‍होंने कहा कि खरीद की फसल-2018 के दौरान किसानों को एसफेट, कारबाडेजिम, ट्राइजोफोस, थियामैथोजम और ट्राइसाकलाजोल जैसे पांच कीटनाशकों का कम प्रयोग के लिए प्रोत्साहित किया गया। इसके नतीजे के तौर पर मानक बासमती पैदा होनी शुरू हुई, जिसने अंतरराष्ट्रीय मापदंड पूरे करना शुरू कर दिए हैं। किसानों को बासमती का बढिय़ा भाव मिलना शुरू हो गया है। पिछले साल के 2600-3000 रुपये के मुकाबले इस साल किसानों को प्रति ङ्क्षक्वटल 3600-4000 रुपये मिल रहे हैं।

इजरायल के साथ मिलकर बचाएंगे पानी

मुख्यमंत्री ने कहा कि इजरायल और पीएयू के विशेषज्ञ मिलकर राज्य में जल संरक्षण पर विशेष ध्यान केंद्रित करेंगे, जिससे इस कीमती स्रोत को संभाला जा सके। उन्होंने कहा कि पिछली अकाली-भाजपा गठबंधन की सरकार की दिशाहीन नीतियों के चलते राज्य के खजाने की बुरी हालत हो गई और राज्य 2,08000 करोड़ रुपये कर्जे के बोझ नीचे दब गया।

मंडी बोर्ड के चेयरमैन लाल सिंह ने कहा कि कैप्टन के नेतृत्व में 750 करोड़ रुपये खर्च कर मंडियों का बुनियादी ढांचा सुधारा जा रहा है। गांवों को जोड़ती हर सड़क बनाई जा रही है। पहले पड़ाव के अंतर्गत 2000 करोड़ रुपये खर्च कर 16000 किलोमीटर ङ्क्षलक सड़कों की मरम्मत करवाई जा रही है।

किसानों के खुदकुशी की घटनाओं में आई कमी: जाखड़

प्रदेश कांग्रेस प्रधान सुनील जाखड़ ने पिछली अकाली-भाजपा सरकार की कारगुजारी पर सवाल खड़े किए। उन्‍होंने कहाकि कैप्‍टन अमरिंदर सिं‍ह के पंजाब की बागडोर संभालने के बाद राज्‍य में किसानों की खुदकुशी में कमी आई है। उन्होंने कहा कि 10 सालों के कार्यकाल दौरान एक साल में 1000 के करीब किसानों ने आत्महत्याएं की, अब यह संख्या 250-300 तक रह गई है।

43 लाख लोगों को जल्द मिलेगा कैशलेस बीमा का लाभ

परिवार भलाई व सेहत मंत्री ब्रह्म मोहिंदरा ने कहा कि जल्द ही राज्य के 43 लाख लोगों को 5 लाख रुपये की कैशलेस बीमा स्कीम के अंतर्गत सेवाओं का लाभ दिया जाएगा। यह योजना बेहतर सेवाएं देने में एक अहम मील का पत्थर साबित होगी। इससे विदेश की तर्ज पर अस्पतालों में फ्री इलाज मिलेगा। प्रदेश वासियों को इसका बड़े स्तर पर फायदा होगा। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह जल्द इसका एलान करेंगे।

समारोह में पटियाला, फतेहगढ़ साहिब, लुधियाना और संगरूर जिलों के किसानों के अलावा लोकसभा सदस्य चौधरी संतोख सिंह, वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल, ग्रामीण विकास व पंचायत मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा, रोजगार मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी, उद्योग मंत्री शाम सुंदर अरोड़ा, लोक निर्माण मंत्री विजय इंद्र सिंगला, बिजली मंत्री गुरप्रीत सिंह कांगड़, पशुपालन मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू, पूर्व विदेश राज्यमंत्री परनीत कौर, पीआरटीसी के चेयरमैन केके शर्मा भी उपस्थित रहे।

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!