जागरण संवाददाता, पटियाला : लंबी जद्दोजहद के बाद आखिरकार स्थानीय निकाय मंत्री के बेटे मोहित मोहिदरा एकतरफा जीत के बाद यूथ कांग्रेस पंजाब महासचिव पद पर दूसरे नंबर पर विजय रहे। यूथ कांग्रेस पंजाब के चुनावों में महासचिव के पद के लिए 44 उम्मीदवार मैदान में थे। मोहित मोहिदरा पेशे से एडवोकेट हैं और पंजाब हरियाणा हाई कोर्ट में प्रैक्टिस भी की है। अपने पिता के नक्शेकदमों पर चल कर राजनीतिक मैदान में उतरे। 2017 में हुए विधानसभा मतदान के दौरान पटियाला देहाती हलके से कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ने वाले ब्रह्मा मोहिदरा को जीत दिलाने के लिए मोहित ने भी अहम भूमिका निभाई थी। इसके बाद 2019 में मोहित मोहिदरा ने संसदीय चुनाव के लिए बठिडा से दावेदारी पेश की थी, लेकिन टिकट नहीं मिली थी। तभी से मोहित राजनीति में पूरी तरह सक्रिय हो गए और अपने पिता के हलके पटियाला देहाती में पैर जमाने शुरू किए। पटियाला देहाती के सभी कौंसलर और स्थानीय निकाय मंत्री के समर्थक मोहित के लिए लॉबिंग कर रहे थे।

यूथ कांग्रेस के चुनाव में पटियाला के संजीव शर्मा उर्फ कालू जिला प्रधान बने हैं। कालू को 4035 वोट मिले हैं, जबकि अनुज खोसला 600 वोटों के साथ पटियाला शहरी के प्रधान बने हैं, वहीं, हिमांशु जोशी देहाती प्रधान बने हैं।

ब्रह्मा मोहिदरा के हलके से पड़े सबसे अधिक वोट

जिला के आठ हलकों में कैबिनेट मंत्री ब्रह्मा महिदरा के पटियाला देहाती हलके में सबसे अधिक 3400 लोगों ने मतदान किया है। हलके में अधिक वोटिग होने का कारण कैबिनेट मंत्री के सुपुत्र मोहित मोहिदरा का राज्य जनरल सचिव के तौर पर मैदान में होना भी माना जा रहा है। महिदरा अपने पिता के हलके में लंबे समय से सक्रिय भी रहे हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!