जेएनएन, पटियाला। सरबत दा भला ट्रस्ट के चेयरमैन, व्यवसायी एवं समाजसेवी एसपी सिंह ओबराय ने दुबई की आबुधाबी जेल में बंद 10 पंजाबी युवकों को फांसी की सजा से बचाने का बीड़ा उठाया है। वे दुबई जाकर उस पाक परिवार की तलाश करेंगे जिनके सदस्य की करीब डेढ़ साल पहले भारतीय नागरिकों के साथ झगड़े में मौत हो गई थी। उसी पाक नागरिक की मौत के मामले में इन 10 भारतीयों को फांसी की सजा सुनाई गई है।

ओबराय के अनुसार अगर दुबई में उन्हें वह पाक परिवार मिल जाए तो वे उसे ब्लड मनी लेकर भारतीय नागरिकों को माफी देने की पेशकश करेंगे। कई बार हादसे का शिकार परिवार ब्लड मनी लेकर माफ कर देते हैं। करीब डेढ़ साल पहले दुबई के आबुधाबी में कुछ भारतीय व पाक नागरिकों में झगड़ा हो गया था। इस झगड़े में पाक नागरिक की मौत हो गई थी। सभी 10 भारतीय पंजाब के रहने वाले हैं।

26 अक्टूबर को कोर्ट ने इन युवकों को फांसी की सजा सुनाई थी। 4 नवंबर को युवाओं ने कोर्ट में सरकारी वकील करने की अपील की थी। कोर्ट ने अब 21 दिसंबर की तारीख लगाई है। अगर इससे पहले पाक परिवार ब्लड मनी लेकर माफीनामा दे दे तो युवकों की जान बचाई जा सकती है। ओबराय ने बताया कि वे रविवार को वे वहां पहुंच जाएंगे।

इन 11 पर मुकदमा चला था जिसमें से एक को जुर्माना लेकर छोड़ दिया गया था जबकि अन्य 10 को फांसी की सजा सुनाई गई है। बता दें, वर्ष 2013 में 1.2 मिलियन डॉलर ब्लड मनी देकर एसपी ओबराय ने 17 भारतीयों को फांसी की सजा से बचाया था। उन्हें उम्मीद है कि इस बार भी उनके प्रयास सफल होंगे।

इन युवाओं को बचाने की कोशिश

1. सतमिंदर सिंह, बरनाला
2. चंद्रशेखर, होशियारपुर
3. हरजीत सिंह, नवांशहर
4. अजय कुमार, नवांशहर
5. हरजिंदर सिंह, मोगा
6. कुलविंदर सिंह, लुधियाना
7. धर्मवीर सिंह, लुधियाना
8. तरसेम सिंह, अमृतसर
9. गुरुप्रीत सिंह, पटियाला
10. जगजीत सिंह, गुरदासपुर
11 टोनी, बटाला

पढ़ें : सिद्धू अभी नहीं होंगे कांग्रेस में शामिल, अमृतसर उपचुनाव भी नहीं लड़ेंगे

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!