जागरण संवाददाता, पटियाला : एक लाख 80 हजार रुपये की लालच में युवती को शादी का झांसे में घर से भगाकर रस्सी से गला घोंटकर हत्या करने के मामले में थाना अनाज मंडी पुलिस ने दो आरोपितों को नामजद कर गिरफ्तार कर लिया है। मृतक युवती की पहचान सिमरनजीत कौर निवासी सुखराम कॉलोनी के तौर पर हुई, जबकि आरोपितों की पहचान संदीप सिंह निवासी गुरु नानक नगर पटियाला और रिकू निवासी जहांगीर नगर नजदीक राम अस्पताल आजादपुर मंडी, नई दिल्ली हाल आबाद बाबू सिंह कॉलोनी के तौर पर हुई है। आरोपितों को शुक्रवार को अदालत में पेश तीन दिन का पुलिस रिमांड हासिल कर लिया गया है। पुलिस अनुसार आरोपितों द्वारा गांव वड्डी रौणी की हड्डा रोड़ी युवती के दोस्त ने पैसों के लालच में अपने दोस्त के साथ मिलकर रस्सी से गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी गई है।

बता दें कि घर से जाते समय युवती ने पिता के एकाउंट से चैक के जरिए 1.80 लाख रूपए निकलवाए थे और यही 1.80 लाख रूपयों के लिए युवती के दोस्ती संदीप ने उसकी हत्या कर दी। फिलहाल मामले में युवती के साथ दुष्कर्म करने की पुष्टि नहीं हुई। युवती 17 जुलाई से घर से लापता थी और युवती के पिता द्वारा इस संबंधी थाना अनाज मंडी में इसकी एक अगस्त को इस संबंधी शिकायत दर्ज करवाई थी।

शो-रूम में नौकरी के दौरान हुई थी युवती की संदीप से दोस्ती

थाना अनाज मंडी इंचार्ज गुरनाम सिंह ने बताया कि जांच दौरान सामने आया है कि मृतक सिमरनजीत कौर ऑमेक्स मॉल में स्थित एक शोरूम में काम करती थी। इसी दौरान उसकी दोस्ती वहीं काम करते आरोपित संदीप के साथ हो गई थी। मृतक सिमरनजीत अपने दोस्त संदीप के साथ विवाह करवाना चाहती थी।

दोस्त संग बनाई थी कत्ल की साजिश

डीएसपी सिटी-2 दलबीर सिंह ग्रेवाल ने बताया कि कुछ समय पहले ही आरोपित संदीप ने ऑमेक्स शोरूम से नौकरी छोड़कर 22 नंबर फाटक स्थित एक शोरूम में नौकरी करनी शुरू कर दी थी। जहा उसकी दोस्ती रिकू के लड़के साथ हुई। संदीप और रिकू ने पैसे ऐंठने प्लान के मकसद से रिकू के साथ दिल्ली में नौकरी दिलाने की बात कहकर दिल्ली भेज दिया। लेकिन 20 जुलाई को युवती वापिस पटियाला लौट आई और संदीप से मिली। संदीप को पता था कि एक लाख 80 हजार रूपए युवती के पास ही हैं और इन पैसों को हासिल करने के लिए उसी रात आरोपित संदीप और रिकू, मृतक सिमरनजीत कौर को गांव वड्डी रौणी की हड्डा रोड़ी ले गए। जहां आरोपितों ने सिमरनजीत कौर के गले में रस्सी डालकर उसकी हत्या करके शव वहीं फेंक दिया और पैसे लेकर वहां से भाग गए।

कॉल रिकॉर्ड और जांच के दौरान मिला सुराग

डीएसपी सिटी-2 ग्रेवाल ने बताया कि युवती के पिता द्वारा 1 अगस्त को युवती के लापता होने की शिकायत थाना अनाज मंडी में दर्ज करवाई थी। जिसके बाद पुलिस ने जहां युवती का कॉल रिकॉर्ड खंगालना शुरू किया, वहीं जहां वो नौकरी करती थी और घर मोहल्ले में भी पूछताछ शुरू कर दी। जांच दौरान सामने आया कि युवती के आरोपित संदीप सिंह के साथ दोस्ती थी। उसके बाद शक के आधार पर जब संदीप सिंह से पूछताछ दौरान सारा मामला साफ हो गया।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!