जागरण संवाददाता, पटियाला

स्टेट ट्रांसपोर्ट कमिश्नर के निर्देशों पर जिला होशियारपुर सहित अन्य जिला में एजेंटों पर हुई कार्रवाई के खिलाफ एजेंट एक मंच पर आना शुरू हो गए हैं। यहां मिनी सचिवालय के सामने स्थित जन सहायता केंद्र में आरटीए दफ्तर से संबंधित काम करने वाले एजेंटों ने अपनी एसोसिएशन गठित करने का फैसला लिया है। जिसके चलते वीरवार को कुछ एजेंटों ने एसोसिएशन के गठन संबंधी मीटिग की। मीटिग के बाद हर एजेंट से 200 रूपए फीस वसूल करके उन्हें एसोसिएशन का मेंबर बनाया गया। एसोसिएशन का मेंबर बनने के लिए 200 रुपए फीस रखी गई है। इसके अलावा मीटिग के दौरान 11 सदस्यीय कमेटी का गठन भी किया गया। इस कमेटी में 11 व्यक्तियों की नियुक्ति की गई। एजेंटों से 1400 ड्राइविग लाइसेंस व 49 आरसी बरामद

होशियारपुर के एसडीएम, आरटीए व पुलिस विभाग द्वारा एजेंटों के दुकानों की चेकिग के दौरान वहां से 1400 ड्राइविग लाइसेंस व 49 वाहनों की आरसी बरामद की गई थी। इस दौरान चेकिग करने वाली टीम ने एजेंटों से सभी दस्तावेज अपने कब्जे में ले लिए है। इस कार्रवाई के डर से यहां पटियाला में एजेंटों ने एकजुट होने का फैसला किया। एजेंटों का मानना है कि जिला प्रशासन द्वारा उन्हें काम करने के लिए बूथ अलाट किए गए है, तो उनके पास आरटीए दफ्तर से संबंधित दस्तावेज होना कोई बड़ी बात नहीं है। खुद व्यक्ति अपना ड्राइविग लाइसेंस व आरसी सहित अन्य दस्तावेज उनके पास छोड़ जाते हैं। जन सहायता ट्रांसपोर्ट एडवाइजरी एंड सोशल वेल्फेयर कमेटी गठित

एजेंटों की समस्याओं को हल करने के लिए जन सहायता ट्रांसपोर्ट एडवाइजरी एंड सोशल वेल्फेयर कमेटी गठित की गई है। इसमें दिनेश भारद्वाज को प्रधान नियुक्त किया गया। इसी तरह दलजीत सिंह को सीनियर उप प्रधान, गुरदीप सिंह को उप प्रधान, मनजीत सिंह को महासचिव,गुरप्रीत सिंह को ज्वाइंट सचिव, नरेश कुमार को प्रोपेगंडा सचिव और विकास गुप्ता को कैशियर नियुक्त किया गया।

Edited By: Jagran