जागरण संवाददाता, पटियाला : थाना सिविल लाइन के अंतर्गत आते मोती महल के नजदीक न्यू आफिसर कालोनी में घरेलू विवाद के चलते एक गुट ने दूसरे गुट के घर के बाहर फायरिग कर दी। फायरिग में कोई जानी नुकसान तो नहीं हुआ लेकिन पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर लिया है। यह घटना रविवार रात 11 बजे के बाद की है। थाना सिविल लाइन के इंचार्ज गुरप्रीत सिंह ने कहा कि इस घटना के बाद तरसेम के बयानों पर विनोद कुमार, करन कन्नू, लाडी और एक अन्य व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। घटना के समय घर के अंदर तरसेम के बच्चों के साथ उसकी पत्नी मौजूद थी, जो बाल-बाल बच गए। घर पर करीब छह फायर किए हुए थे, पुलिस ने मौके से गोली के खोल भी बरामद कर लिए हैं।

यह है पूरा मामला

इंस्पेक्टर गुरप्रीत सिंह ने बताया कि फायरिग करने वाले आरोपित विनोद की शादी करीब 13 साल पहले हुई थी। दंपती के बीच झगड़ा चल रहा था, जिसके बाद पंचायती तौर पर तलाक का फैसला ले लिया। इसके बाद इन लोगों ने तलाक के लिए कोर्ट में केस फाइल कर दिया था। तरसेम कुमार ने कहा कि इसी रंजिश के चलते फायरिग की घटना को रविवार रात को अंजाम दिया गया। इसके खिलाफ पहले भी कई मामले दर्ज हैं और अवैध असलहा रखा हुआ है। रविवार शाम से ही धमकियां देने के बाद उनके घर पर फायरिग कर जान लेने की कोशिश की है। खुद ही फायरिग कर झूठा केस दर्ज करवाया: विनोद

विनोद अरोड़ा ने कहा कि तरसेम कुमार का उनका दोस्त व सांढू भी है। पैसों के लालच में उसने घर में झगड़ा करवा पत्नी के जरिये पैसे लिए थे। किसी केस में वह जेल गए तो पीछे से तरसेम ने उनकी पत्नी को बरगला गहने गबन कर लिए। कई बार खुद को चोट पहुंचा अस्पताल में दाखिल हो झूठे केस दर्ज करवाने की कोशिश की थी लेकिन सफल नहीं हुए। अब रविवार को धमकियां देने के बाद खुद ही अपने घर पर फायरिग करवा झूठा केस दर्ज करवाया है, जिस संबंध में पुलिस को जांच की मांग की है।

Edited By: Jagran