जागरण संवाददाता. पटियाला : भादसों थाने के अधीन आते गांव रायमलमाजरी की बुजुर्ग स्वर्ण कौर द्वारा अपने पुत्र, पुत्रवधु सहित पोती के खिलाफ महिला आयोग को शिकायत की गई थी। सोमवार को महिला आयोग के समक्ष आरोपित पक्ष पेश नहीं हुआ है। दूसरी ओर भादसों थाने की पुलिस ने उनके खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। पंजाब महिला आयोग की चेयरपर्सन मनीषा गुलाटी ने कहा कि आरोपित पक्ष को सोमवार को उनके पास आना चाहिए था, क्योंकि आयोग दोनों पक्षों की बराबर सुनवाई करता है। ऐसे में दूसरे पक्ष की भी पूरी बात सुनी जाएगी। स्वर्ण कौर के आरोप कि उसे पुत्र, पुत्रवधु सहित पोती ने जबरदस्ती पेशाब पिलाया है। अगर ये आरोप साबित हो जाता तो यह बहुत ही अमानवीय है, जिसके बाद सख्त कार्रवाई की जाएगी। वह सोमवार को यहां सर्किट हाउस में पीड़ित परिवार की सुनवाई करने आई थी।

मामले में उन्होंने कहा कि बुजुर्ग ने भादसों थाने की पुलिस सहित एसडीएम नाभा के पास शिकायत के बाद सुनवाई नहीं होने की बात कही है। इसके लिए एसडीएम से दस्तावेजों की जांच करवाएंगी जबकि पुलिस के बारे में उच्चाधिकारी मामले की जांच करेंगे। महिला को पेशाब पिलाने के गंभीर आरोप पर उन्होंने कहा कि यह जांच का विषय है और इसके बारे में पुलिस जांच करके अपनी रिपोर्ट देगी। उसके बाद आगे की कार्रवाई होगी। आरोपित पक्ष के पेश नहीं होने पर उन्होंने कहा कि पुलिस उक्त लोगों को गिरफ्तार करने के लिए छापामारी कर रही है। ये है मामला

कैंसर पीड़ित बुजुर्ग स्वर्ण कौर ने महिला आयोग के पास शिकायत देकर कहा था कि उसके पुत्र, सहित परिवार के सदस्यों ने उनके साथ मारपीट करके उसे घर से बाहर निकाल दिया है। उसके तीन पुत्र हैं, एक की मौत हो चुकी है जबकि वो गांव अगौल में रहने वाले दूसरे बेटे कुलविंदर सिंह के पास रहती है। उधर, इस बारे में भादसों थाने के एसएचओ ने बताया कि पुलिस ने हरजिदर सिंह व पत्नी सुखप्रीत कौर के खिलाफ जबरदस्ती करने, मारपीट करने और जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज किया है।

Edited By: Jagran