जागरण संवादाता, पटियाला : राजपुरा रोड स्थित कमांडो कंप्लेक्स के नजदीक बने परीक्षा केंद्र में शुक्रवार को विद्यार्थियों ने सी टेक्ट का पेपर देना था। पेपर सुबह 10 बजे शुरू होना था। पर सेंटर अधिकारियों ने 30 विद्यार्थियों को साढ़े नौ बजे के बाद सेंटर में नहीं जाने दिया। हालांकि इस दौरान विद्यार्थियों ने सेंटर के कर्मचारियों की काफी मिन्नतें भी की, पर कर्मचारियों ने एक न सुनी। इसके विरोध में विद्यार्थियों व उनके अभिभावकों ने राजपुरा रोड पर धरना देकर सेंटर कर्मचारियों के खिलाफ रोष प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। विद्यार्थियों का आधा घंटे धरना चलने के बाद धरने वाली जगह बहादुरगढ़ चौकी की पुलिस पहुंची। जहां सेंटर अधिकारियों को भी मौके पर बुलाया गया। विद्यार्थियों व उनके अभिभावकों ने सेंटर अधिकारियों के खिलाफ पुलिस को शिकायत दी। जिसके बाद सेंटर अधिकारियों ने कहा कि वह आनलाइन अपने आवेदन कंपनी को दें, जिसके बाद हो सकता है कि कंपनी दोबारा पेपर लेगी। सेंटर अधिकारियों के भरोसे के बाद विद्यार्थियों ने अपना धरना खत्म किया। इस दौरान विद्यार्थियों में रोष था कि उन्हें समय से पहले ही सेंटर के भीतर नहीं जाने दिया। जिसके चलते वह आज पेपर देने से रह गए है। जानकारी अनुसार यह मामला करीब दो घंटे चलता रहा। जिसके बाद विद्यार्थी लौट गए। कुल 300 विद्यार्थियों ने ये परीक्षा दी।

इस बारे में बहादुरगढ़ चौकी के इंचार्ज मनजीत सिंह ने कहा कि विद्यार्थी परीक्षा केंद्र में लेट आये थे। इसी कारण उन्हें पेपर में बैठने नहीं दिया गया। विद्यार्थियों व उनके अभिभावकों की परीक्षा केंद्र के मैनेजर से बात करवा दी थी। इसके बाद विद्यार्थी लौट गए। बच्चों के साथ धक्का किया गया

बच्चों के अभिभावक सोमनाथ, गुरप्रीत कौर व कुलदीप सिंह ने कहा कि वह सुबह समय से पहले ही अपने बच्चों के साथ यहां सेंटर में पहुंच चुके थे, पर सेंटर कर्मचारियों ने बच्चों को भीतर जाने नहीं दिया। जबरन बच्चों को धक्का मारकर पीछे हटाया गया। जिसके चलते बच्चों में रोष है। उन्होंने कहा कि सेंटर कर्मचारियों की गलती के चलते आज पेपर देने से रह गए है। उन्होंने कहा कि उनके द्वारा पुलिस को शिकायत तो दे दी गई है, पर शिकायत देने का कोई फायदा नहीं होगा। बच्चों का दोबारा पेपर नहीं होगा।

Edited By: Jagran