जेएनएन, पठानकोट। 15 साल छोटे बेटी के जेठ से शादी रचाने पर परिजनों ने विरोध किया, तो महिला सुरक्षा के लिए कोर्ट पहुंच गई। पठानकोट की एक महिला के इस फैसले का विरोध करना भी परिजनों को भारी पड़ता दिख रहा है। अपने नए पति और खुद की सुरक्षा को लेकर महिला ने कोर्ट में अर्जी देकर गुहार लगाई है। कोर्ट इस याचिका पर दो सप्ताह बाद 31 अक्टूबर को सुनवाई करेगा।

बता दें, पठानकोट के खानुपर की एक 37 वर्षीय महिला की 18 वर्षीय बेटी ने गुरदासपुर के एक युवक से छह माह पहले प्रेम विवाह किया था, जिसे परिवार ने जैसे-तैसे स्वीकार कर लिया। मगर, इस दौरान बेटी के पति के बड़े भाई का पठानकोट में आना-जाना शुरू हो गया। 22 साल के इस युवक के साथ उक्त महिला की मित्रता हो गई, जो बाद में प्रेम में तब्दील हो गई।

पहले तो परिजनों को इस बात की भनक नहीं लगी। मगर, जब इस बारे में पता चला तो महिला ने अपने प्रेम संबंध को खुलकर स्वीकार किया। स्थिति ऐसी हो गई कि महिला ने गत सितंबर में ही अपने पति से तलाक ले लिया और दो अक्टूबर को अपने से 15 साल छोटे एवं बेटी के जेठ के साथ मंदिर में विवाह कर लिया।

बेटी की जेठानी बनने पर परिजनों ने इसका विरोध किया तो महिला ने सुरक्षा को लेकर कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। अब उक्त महिला अपने नए पति के साथ रह रही है। मगर, बेटी की जेठानी बनने की बात परिजनों को भी हजम नहीं हो रही है। महिला अपने गुरदासपुर निवासी अभिभावकों व भाई से खुद को खतरा बता रही है। उनके विरोध पर महिला अब सुरक्षा चाह रही है।

कोर्ट के आदेश के आधार पर करेंगे कार्रवाई

इस संबंध में जब एसएसपी दीपक हिलेरी से बात की गई तो उन्होंने कहा कि याचिकाकर्ता ने सीधे कोर्ट में याचिका लगाई है। न्यायालय से जैसे आदेश होंगे, पुलिस इसके आधार पर कार्रवाई करेगी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!