जागरण संवाददाता, पठानकोट : शहर के वार्ड 35 मोहल्ला आदर्श स्ट्रीट के 50 परिवारों ने निगम चुनाव का बहिष्कार करने का फैसला किया है। वार्डवासियों का कहना है कि राजनीतिक नेताओं की कार्यप्रणाली से दुखी होकर यह कदम उठाने को मजबूर हुए हैं।

गुस्साए लोगों ने निगम की कार्यप्रणाली को लेकर मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए कहा कि पार्षद, मेयर यहां तक की विधायक से भी गली निर्माण करवाने के आश्वासन मिले, परंतु किसी ने भी इस पर गंभीरता नहीं दिखाई। आदर्श स्ट्रीट के 50 परिवार निगम को सभी प्रकार के टैक्स भरते हैं लेकिन, बदले में उन्हें किसी भी प्रकार की सुविधा प्रदान नहीं करवाई जा रही। उनकी स्थिति तो ग्रामीण एरिया से भी बदत्तर है।

गली को जाने वाले रास्ते पर निकलना तक मुश्किल

प्रदर्शनकारी वार्डवासी गोपाल मेहरा, आदेश अग्रवाल, सोनू शर्मा, भाजपा महिला विग वार्ड वाइस प्रधान नीलम मेहता, सचिव सुदेश सैनी, विक्की, शीला देवी, सोनिया, प्रीति व मंजीत कौर आदि ने बताया कि स्ट्रीट के मुख्यद्वार पर ही बरसात के पानी से छप्पड़ बन गया है। पूरी गली को जाने वाले रास्ते पर निकलना तक मुश्किल हो गया है। गली में इतना ज्यादा कीचड़ है कि बीते दो दिनों में कम से कम पांच लोग स्लिप होकर गिरे हैं। गनीमत रही कि लोगों को मामूली चोटें आई वरना कोई बड़ा हादसा भी घटित हो सकता था।

वार्ड के लोगों ने अपने स्तर पर डलवाई मिट्टी

वार्डवासियों ने निगम पर आरोप लगाते हुए कहा कि आज तक स्ट्रीट में जितने भी काम हुए हैं वह लोगों ने अपने पैसों से करवाए हैं। गली का निर्माण शुरु होने का पता चला तो लोगों ने अपने स्तर पर ही मिट्टी डलवाई। लेकिन, कोई काम शुरु नहीं हुआ। थोड़ी सी बारिश पड़ती है तो पूरी गली कीचड़ से भर जाती है, जिस कारण लोगों को वहां से निकलना तक मुश्किल हो जाता है।

मेयर और विधायक को भी करवाया गया है अवगत

वार्ड पार्षद के पास भी लोग कई बार समस्या लेकर गए परंतु समस्या का कोई समाधान नहीं हुआ। इतना ही नहीं पार्षद के बाद वार्डवासियों ने पहले मेयर और फिर विधायक को समस्या से अवगत करवाया। दोनों ने आश्वासन दिया कि एक महीने तक काम शुरु करवा दिया जाएगा परंतु फिर भी काम शुरु नहीं हो पाया।

गोपाल मेहता ने कहा कि टैक्स लेने में निगम किसी किस्म की कोई रियायत नहीं देता लेकिन, सुविधाएं देने की जब बात आती है तो कोई समाधान नहीं करवाता। इसी बात को लेकर आज समूह आदर्श स्ट्रीट वासियों ने सर्वसम्मति से फैसला लिया है कि वह निगम को एक सप्ताह का समय देते हैं। अगले शुक्रवार तक यदि गली का निर्माण शुरू न हुआ तो वह संघर्ष का रास्ता अपनाएंगे। वार्ड पार्षद कमलेश रानी का कहना है कि गली का काम होना है। इस बारे में निगम को भी बताया गया है, लेकिन यह क्यों नहीं हो रहा इस बारे अधिकारी ही बता सकते हैं।

कमलेश रानी, वार्ड पार्षद

-----------------

गलियों-नालियों के काम का एस्टीमेट बन चुका है। वार्डवासी समस्या को लेकर कार्यालय में आकर मिल सकते हैं उन्हें वास्तुस्थिति से अवगत करवाया जाएगा।

सुरजीत सिंह, एक्सईएन निगम

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!