जागरण संवाददाता, पठानकोट : केंद्रीय विद्यालय क्रमांक दो पठानकोट में स्वर्णिम विजय मशाल के आगमन पर भव्य समारोह का आयोजन प्रिसिपल हनुमंत सिंह के नेतृत्व में किया गया। समारोह का आरंभ मुख्य अतिथि कैप्टन गुंजार ठाकुर, उनकी टीम तथा स्वर्णिम विजय मशाल को एनसीसी कैडेट द्वारा मार्गदर्शन करते हुए कार्यक्रम मंच तक पहुंचाने से हुआ। इसके पश्चात विधिवत रूप से मुख्य अतिथि कैप्टन गुंजार, उनकी टीम का औपचारिक स्वागत किया गया। तत्पश्चात विद्यालय के विभिन्न विद्यार्थियों द्वारा प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया। इसके बाद कक्षा 12वीं की छात्रा साइना द्वारा 'देशभक्ति का वास्तविक अर्थ' विषय पर भाषण दिया गया।

कार्यक्रम की अगली कड़ी में नन्हे-मुन्ने बच्चों द्वारा देश-भक्ति से ओतप्रोत एक समूह गीत प्रस्तुत किया गया। इसके उपरांत विद्यालय के विभिन्न शिक्षकों ने अपनी प्रस्तुति दी। कार्यक्रम के अगले क्रम में मुख्य अतिथि द्वारा सभा को संबोधित करते हुए स्वर्णिम विजय मशाल तथा स्वर्णिम विजय विजय वर्ष' की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर प्रकाश डाला गया जिससे आज के युवाओं में 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में शहीद शहीदों के प्रति प्रेम तथा देशभक्ति की भावना का विकास हो। मुख्य अतिथि के संबोधन के पश्चात विद्यालय के प्रिसिपल हनुमंत सिंह द्वारा मुख्य अतिथि कैप्टन गुंजार ठाकुर तथा उनकी टीम के सभी साथियों का इस स्वर्णिम स्वर्णिम विजय मशाल को विद्यालय में लाने हेतु आभार व्यक्त किया गया तथा युवा पीढ़ी को शहीदों के मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित किया गया।

समारोह का सफल समापन राजेश डोगरा द्वारा कार्यक्रम में उपस्थित मुख्य अतिथि और उनकी टीम, इस कार्यक्रम को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से सहयोग करने वाले शिक्षकों, विद्यालय कर्मचारियों , एनसीसी कैडेट्स तथा दर्शकों के रूप में उपस्थित सभी विद्यार्थियों द्वारा कार्यक्रम में अनुशासन बनाए रखने हेतु धन्यवाद ज्ञापन द्वारा सुनिश्चित किया गया।

Edited By: Jagran