संवाद सहयोगी, मामून: गांव मनवाल उपरला की एएनएम दलवीर कौर की अध्यक्षता में हेल्थ वेलनेस सेंटर में कैंप लगाया गया। इसमें सीएचओ डाक्टर मोहित कुमार मुख्य रूप में उपस्थित हुए। उन्होंने कहा कि नशा हंसते खेलते घर को बर्बाद कर देता है। यह एक ऐसी बुराई है जो परिवारों को धीरे धीरे खोखला कर रही है। बड़े बड़े घराने भी नशे की चपेट में आकर नष्ट हो गए हैं। नशे की लत से पुरुष खत्म हो रहे हैं और उनके घरों में महिलाएं अंधकार में जीवन जी रही हैं। पहले बच्चे तंबाकू का पैकेट लेने से डरते थे। उन्हें डर रहता था कि अगर किसी ने देख लिया तो उन्हें सजा जरूर मिलेगी, लेकिन आज अनेक ऐसे उदाहरण देखने को मिलते हैं कि घर के लोग अपने बच्चों के सामने शराब या तंबाकू का प्रयोग सहजता से करते हैं। यह देखकर बच्चों पर बुरा प्रभाव पड़ता है।

उन्होंने कहा कि अगर किसी के गांव में कोई बच्चा नशे की लत में है या नशा बेचता है तो इसकी जानकारी तुरंत पुलिस को करनी चाहिए। इस मौके पर सरपंच मनवाल उपरला तारा देवी, सरपंच सिऊंटी बाबा दास, सरपंच मनवाल प्रवीण बीवी, सरपंच कुठेड सुमन वाला, सरपंच उत्तम गार्डन कालोनी पूजा देवी, सरपंच गोसाईंपुर हरप्रीत कौर, सरपंच पड़िया लाहडी रेनू बाला, आशा वर्कर बबीता, नीलम कुमारी, रजनी बाला, सुदेश, अंजू बाला, नीलम शर्मा, रीटा देवी, विमला देवी, ओम सिंह डडवाल, शक्ति सिंह, अशोक कुमार, अजय सिंह आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran