संवाद सहयोगी, सुजानपुर : सफाई कर्मचारियों ने नगर कौंसिल सुजानपुर के खिलाफ मोर्चा खोला है। कर्मियों ने 10 वर्षों का इपीएफ हड़पने का आरोप लगाकर नगर कौंसिल के विरूद्ध वीरवार को नारेबाजी की। कर्मचारी पर संतोष, रूपा, राजरानी, शालू, डोरस, बीना, सरोज, राजरानी, रमा, नरेश, सुनीता, विमला, नीलम, बलजीत, वीनस, विमला, अमिता ने बताया कि पिछले कई सालों से नगर कौंसिल के अधीन ठेके पर काम कर रहे हैं। लेकिन नगर कौंसिल की तरफ से उनका वर्षों का इपीएफ हड़प लिया गया है। उन्होंने डिप्टी डायरेक्टर अमृतसर को पत्र लिखकर मांग की है कि इस सारे मामले की जांच की जाए। बताया कि नगर कौंसिल कर्मचारी द्वारा उनकी ईपीएफ कॉपी भी अपने पास रखी हुई है। अगर इसकी उच्च स्तरीय जांच की जाए तो एक बड़ा घोटाला सामने आ सकता है। नगर कौंसिल की तरफ से उन्हें 5 महीने से वेतन भी नहीं दिया गया, जिस कारण व आर्थिक तंगी का शिकार हो रहे हैं। कौंसिल अधिकारियों द्वारा मिलीभगत के चलते उनके इपीएफ को गोलमाल किया गया है। उन्होंने डीसी पठानकोट से अपील की है कि उन्हें इंसाफ दिलाया जाए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!