संवाद सहयोगी, बमियाल : नरोट जैमल सिंह में रेत बजरी पर रॉयल्टी वसूलने पर ग्रामीण गुस्सा गए। शुक्रवार को नगर पंचायत नरोट जैमल सिंह के उपाध्यक्ष मास्टर तरसेम लाल, पार्षदों और ग्रामीणों ने पांच घंटे मार्ग बंद रखा और नारेबाजी की। ट्रैक्टर ट्राली मार्ग के बीच लगाकर रेत बजरी लेने पहुंचने वाले वाहनों का रास्ता भी बंद रखा। स्टोन क्रशर में रेत बजरी लेने पहुंचने वाले वाहनों की लंबी कतारें लग गई। सुबह 11 बजे शुरू हुआ रोष प्रदर्शन सायं चार बजे खत्म हुआ। स्थिति तनावपूर्ण होने पर पुलिस भी मौके पर पहुंची और और रास्ता खुलवाने का प्रयास किया। बावजूद इसके ग्रामीण इस बात पर अड़े रहे कि जब तक पहले की तरह रॉयल्टी माफ किए जाने की घोषणा नहीं की जाती तब तक मार्ग नहीं खोलेंगे।

ठेकेदार और ग्रामीणों के मध्य बैठक करवाकर दोनों पक्षों में समझौता करवाया तब जाकर मामला शांत हुआ। 500 रुपये वसूलना नाइंसाफी, नहीं देंगे

पार्षद उमेश सिंह, राजेश शर्मा, कैप्टन बोधराज, मास्टर सलीम, अमन वर्मा, नंबरदार दीपक सिंह ने कहा है कि लोगों के साथ नाइंसाफी की जा रही है। शुक्रवार को रेत बजरी के लिए ट्रैक्टर ट्राली स्टोन क्रशर पर भेजी गई थी जिसे रॉयल्टी प्वाइंट पर रोक लिया गया। आए दिन रॉयल्टी वसूली के नाम पर लोगों को तंग करने का प्रयास हो रहा है। 500 रुपये न देने पर बिना वजह परेशान किया जाता है। विधायक ने की थी माफ

दो माह पहले विधायक जोगिदर पाल ने नरोट जैमल सिंह के सभी 11 वार्ड के लोगों को रॉयल्टी माफ करने का ऐलान किया था। इसका असर भी हुआ था और लोगों को लाभ मिलना शुरू भी हो गया। बावजूद इसके फिर यह वसूली शुरू होने पर ग्रामीण गुस्सा गए। शांति से पक्ष रखें लोग : थाना प्रभारी

नरोट जैमल सिंह पुलिस थाना प्रभारी प्रीतम सिंह ने कहा कि ग्रामीणों की मांग पर संबंधित पक्ष के साथ वार्तालाप करवाकर मार्ग खुलवा दिया गया। उन्होंने लोगों से अपील की है कि किसी भी मुद्दे को लेकर शांति से अपना पक्ष रखें, जिससे कि किसी को परेशानी न हो।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!