संवाद सहयोगी जुगियाल: अर्ध पहाड़ी क्षेत्र और रणजीत सागर बांध परियोजना के आसपास के क्षेत्रों में रिमझिम बारिश होने व बांध परियोजना की ओर से गेहूं के लिए पानी की मांग को घटते देख बांध प्रशासन ने दो दिन से बिजली उत्पादन बंद कर रखा है। आंकड़ों पर नजर दौड़ाई जाए तो 19 जनवरी को रणजीत सागर बांध परियोजना का जलस्तर 509.09 मीटर पर था, जबकि 4455 क्यूसिक के बहाव से पानी आ रहा था। 20 जनवरी को झील का जलस्तर 501.32 पर आ गया, जबकि झील में 7983 क्यूसिक बहाव से पानी आ रहा था। बांध परियोजना की ओर से 148100 यूनिट बिजली उत्पादन करने के बाद माधोपुर को 4830 क्यूसिक पानी छोड़ा। 21 जनवरी को परियोजना का जलस्तर बढ़कर 501.37 मीटर पर आ गया व झील में 8184 क्यूसिक बहाव से पानी आ रहा था। वहीं बांध परियोजना की ओर से 70280 यूनिट बिजली उत्पादन कर माधोपुर को 4830 क्यूसिक बहाव से पानी छोड़ा।

रविवार को जल स्तर 501.82 मीटर पर आ गया है, जबकि झील में 1085 क्यूसिक बहाव से पानी आ रहा था। रविवार को भी बांध परियोजना की ओर से ना तो पानी छोड़ा गया और ना ही बिजली उत्पादन किया गया।

अगर पिछले दो दिन के बारिश के आंकड़ों पर नजर दौड़ाई जाए तो 21 जनवरी को रंजीत सागर बांध पर 6.2 एमएम, खैरी में 8.4, बसहोली में 10.0 एमएम, शाहपुरकंडी में 3.2 माधोपुर में 2.3 एमएम बारिश दर्ज की गई है। शनिवार रात को रणजीत सागर बांध पर 18.2 एमएम, खैरी में 15.0 एमएम, बसोली में 32.2, शाहपुरकंडी में 21.2, माधोपुर में 19.2 और पट्टी में 18.2 एमएम बारिश रिकार्ड की गई।

Edited By: Jagran