संवाद सहयोगी, पठानकोट

एसएसए और रमसा अध्यापक यूनियन की ओर से पंजाब केबिनेट की ओर से गत तीन अक्टूबर को पारित 15300 रुपये के वेतन पर काम करने के फरमान के विरोध में आज अध्यापकों की ओर से स्थानीय वाल्मीकि चौक में प्रदर्शन किया गया तथा नोटिफिकेशन की कापियां जलाई गई। मौके पर यूनियन नेता राजन कुमार ने बताया कि पंजाब सरकार के वेतन कटौती के फैसले को कताई लागू नहीं होने दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि वेतन कटौती को लेकर प्रतिदिन 17 अध्यापक पटियाला में मरण व्रत पर बैठे हुए है तथा उन्हें डराने के लिये पंजाब सरकार ने पांच अध्यापकों को सस्पेंड भी किया है। यूनियन नेता ने कहा कि अध्यापक पिछले 10 साल से पंजाब सरकार के स्कूलों में काम कर रहे हैं तथा अब आकर उनके वेतन में कटौती करना पूरी तरह से धक्केशाही है। उन्होंने बताया कि आगामी दिनों में सरकार के खिलाफ और कड़ा प्रदर्शन किया जायेगा। इस मौके पर राम प्रसाद,दिनेश महाजन,राज कुमार,राजेश सलवान, दीपक शर्मा, रविन्द्र कौर,रमेश कुमार, बबीता, मुनीश और अन्य उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!