दीपक कुमार, बमियाल : सीमावर्ती क्षेत्र के लोगों को जल्द फिर से अस्थाई पुलों की सुविधा मुहैया हो जाएगी। लोक निर्माण विभाग ने अस्थाई पुल बनाने के लिए टेंडर की प्रक्रिया शुरू कर दी है। नवंबर महीने के पहले सप्ताह पुल बनाने का काम आरंभ होगा। पुल बनाने से लोगों को नाव के सफर से छुटकारा मिल जाएगा। क्षेत्रवासी सुमित कुमार, तरलोक ¨सह, तरलोचन ¨सह, हरदेव ¨सह, पवन कुमार, अंग्रेज चंद, बाल कृष्ण, प्रेमचंद, बृजेश शर्मा, रूपलाल, गुरुवचन दास ने कहा कि अस्थाई पुल बनने से ग्रामीणों को बड़ी राहत मिलेगी।

यहां डाले जाते हैं अस्थाई पुल

लोक निर्माण विभाग गांव मस्तपुर व मुट्ठी के जलालिया दरिया पर अस्थाई पुल डालता है। वहीं गांव मक्खनपुर के रावी दरिया पर भी अस्थाई पुल बनाया जाता है। यहां के लगभग डेढ़ दर्जन गांव इस पुल के माध्यम से सीधा गुरदासपुर जिले से जुड़ जाते हैं। यहां रावी दरिया पर पुल हटा लिए जाने की सूरत में लोगों को बाया दीनानगर होकर गुरदासपुर जाना पड़ता है। बरसात में हटाए थे पुल बरसात के मौसम में जुलाई महीने में दरिया का पानी बढ़ जाता है।

इससे अस्थाई पुल पानी में बह जाने की आशंका बनी रहती है। इसे देखते हुए विभाग पुल को उठा लेता है। इसके बाद लगभग चार महीने तक इस क्षेत्र के लोग नाव के सहारे दरिया पार करते हैं। 50 गांवों को होगा फायदा पुल के बनने से क्षेत्र के लगभग 50 गांवों के लोगों का आपसी सीधा संपर्क जुड़ जाएगा। इससे गांव मजीरी, दतियाल, फरवाल, जैनपुर, पहाड़ीपुर, बरमाल आदि के लोगों को गुरदासपुर पहुंचने के लिए सीधा संपर्क मार्ग मिल जाएगा। इससे उनका लगभग 20 किलोमीटर का सफर भी कम हो जाएगा।'

इसी तरह नरोट जैमल ¨सह व बमियाल क्षेत्र में गांव मस्तपुर और मुट्ठी में जलालिया दरिया पर पुल बनाने से गांव जनियाल, रतडवा, समराला, चक अमीर व फतेहपुर आदि करीब 30 गांव के लोगों को संपर्क मार्ग मिल जाने से उनका लगभग 15 किलोमीटर का सफर कम हो जाएगा।

टेंडर प्रक्रिया शुरू : एसडीओ

लोक निर्माण विभाग के एसडीओ गणेश कुमार ने बताया कि विभाग ने टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी है। 15 दिनों के भीतर यह प्रक्रिया पूरी होने पर सभी अस्थाई पुल डाल दिए जाएंगे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!