जागरण संवादाता, पठानकोट : करवा चौथ और दीपावली को लेकर बाजारों में भीड़ बढ़ने लगी है। खरीदारी के लिए महिलाएं अधिक आ रही हैं। नए कपड़ों की खरीदारी के साथ ही गहनों और गृहसज्जा की वस्तुओं की मांग बढ़ी है। इससे दुकानदारों के चेहरे भी खिल गए हैं। उनका कहना है कि अगर इसी प्रकार की मांग रही तो दीपावली तक अच्छा कारोबार हो जाएगा।

पिछले डेढ़ साल से कोरोना के कारण लाकडाउन लगा हुआ था। इस दौरान दुकानदार समेत अन्य वर्गों की भी आर्थिक स्थिति खराब हो गई। लाकडाउन के बाद अब दोबारा से बाजारों में रौनक देखने को मिल रही है। मंगलवार को ग्राहकों ने करवा चौथ और दीपावली को लेकर जमकर खरीदारी की।

यह रौनक केवल शहरी क्षेत्रों में ही नहीं, बल्कि ग्रामीण क्षेत्रों के बाजारों में भी देखने को मिल रही है। घरों को सजाने के लिए झालर, बत्ती और अन्य इलेक्ट्रिक व इलेक्ट्रॉनिक सामानों की बिक्री बढ़ गई है। महिलाएं लटकन, रंग-बिरंगे पर्दे व झालरें खरीद रही हैं।

दुकानों पर बल्ब से जलने वाले लैंप व विभिन्न प्रकार के कैंडल भी सजे हुए हैं। इसकी कीमत 300 से लेकर 15000 तक है।

शहर के गांधी चौक, गाड़ी अहाता चौक, मेन बाजार, न्यू एमसी बाजार, डाकखाना चौक, माडल टाउन बाजार, ढांगू बाजार, डल्हौजी रोड, पटेल चौक, रेलवे रोड, आदि में दीपावली से संबंधी पूजा व अन्य सामग्री की लोग खरीदारी कर रहे हैं।

साड़ी और सूट की भी मांग बढ़ी

कपड़ा कारोबारियों भारत महाजन, मनमहेश शर्मा, मनमोहन काला, चाचा वेद प्रकाश आदि का कहना है कि साड़ी और सूट की मांग बढ़ गई है। दुकानदारों के अनुसार कपड़ों की बिक्री 50 फीसद तक बढ़ी है।

सर्राफा व्यापारियों को भी उम्मीद

सर्राफा व्यापारियों धर्मपाल चौहान, राकेश कुमार, विनोद धवन व शाम बब्बर आदि का कहना है कि दीवाली से उन्हें काफी आशा है। कारोबार में उछाल आ सकता है।

Edited By: Jagran