जागरण संवाददाता, पठानकोट : कोरोना वायरस के कारण पैदा हुई स्थिति को देखते हुए राज्य सरकार ने बिना किसी देरी के कर्मचारियों को वेतन जारी करने की बात कही थी। लेकिन, इस बात में कितनी सच्चाई है इस बात का अंदाजा यहीं से लगाया जा सकता है कि अप्रैल की नौ तारीख बीत जाने के बावजूद भी कर्मचारियों को वेतन नहीं मिला है। जिले में केवल पुलिस को छोड़ दिया जाए तो बाकी किसी को भी वेतन जारी नहीं हुआ है। हालांकि, पिछले करीब छह महीनों से वेतन के लिए सड़कों पर उतर रहे निगम व पावरकॉम के कर्मचारियों को तीन दिन पहले ही वेतन जारी हो गया था। जबकि, रूटीन में पहले सप्ताह जिन विभाग के कर्मचारियों को वेतन जारी होता था उन्हें महीने की नौ तारीख बीत जाने के बाद भी वेतन नहीं मिला है। वेतन में देरी को लेकर विभिन्न यूनियनों ने रोष जताया और वेतन जारी करने की मांग की।

...............

पहल के आधार पर जारी करना चाहिए था वेतन

पीडब्ल्यूडी बीएंडआर की मिनिस्ट्रियल सर्विस यूनियन के प्रदेश उपाध्यक्ष विशालवीर सिंह, पंजाब सुवार्डिनेट सर्विसेज फेडरेशन के जिला प्रधान राजिद्र धीमान ने कहा कि एक तरफ तो केंद्र ओर राज्य सरकार कह रही है कि कर्मचारियों को रोटी के लिए परेशान न होना पड़े इसलिए, पहल के आधार पर सभी को वेतन जारी किया जाएगा। लेकिन, नौ अप्रैल बीत जाने के बावजूद भी कर्मचारी वेतन का इंतजार कर रहे हैं। सरकार को भी अपनी जिम्मेवारी निभाते हुए उनके खातों में बिना किसी बात का इंतजार किए अब तक वेतन डाल देना चाहिए था।

...............

इन विभागों के कर्मियों को नहीं मिला वेतन

जिले में पंजाब पुलिस को छोड़ अभी तक किसी भी विभाग को वेतन जारी नहीं हो पाया है। पीडब्ल्यूडी बीएंडआर, हेल्थ, वाटर सप्लाई एवं सैनिटेशन, सिचाई विभाग, कृषि विभाग, शिक्षा, भूमि रक्षा विभाग, हेड व‌र्क्स माधोपुर, ट्यूबवेल, रोडवेज सहित जिला में कार्यरत करीब 10 हजार मुलाजिम सरकार की ओर नजरे गढ़ाए बैठे हैं। राज्य सरकार की ओर प्रत्येक माह जिला में कार्यरत सरकारी कर्मचारियों के लिए 27 करोड़ रुपये का वेतन जारी किया जाता है।

.......................

समय पर वेतन मिलने से राहत : अश्वनी

निकाय विभाग व पावरकॉम ने सोमवार को ही कर्मचारियों के खातों में वेतन डाल कर उन्हें राहत पहुंचाई है। म्युनिसिपल वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान अश्वनी शर्मा, अखिल भारतीय सफाई मजदूर यूनियन के प्रधान रमेश कटो व इंप्लाइज फेडरेशन पंजाब राज्य बिजली बोर्ड के प्रधान विनोद ठाकुर का कहना है कि उनके खातों में अभी भले 60 फीसद राशि आई है परंतु उससे भी काफी राहत मिली है। कम से कम उनके परिवारों को राशन के लिए तो परेशान नहीं होना पड़ेगा।

...........................

पुलिस विभाग के सभी कर्मचारियों के खाते में पूरा वेतन डाल दिया गया है। पावरकॉम के कर्मचारियों को 60 फीसद जारी किया गया है। इस बार वेतन बिलों में बदलाव होने की वजह से वेतन बिल कार्यालय में नहीं आए। अब आना शुरू हो गए हैं। अगले दो-से तीन दिनों के भीतर सभी सरकारी विभागों के कर्मचारियों के खातों में वेतन डाल दिया जाएगा।

-सुखविद्र सिंह, जिला खजाना अधिकारी, पठानकोट।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!