जागरण संवाददाता, पठानकोट : महिलाओं की स्वच्छता व पीरियड्स में सेनेटरी नैपकिन पैड के इस्तेमाल को लेकर बनी फिल्म पैडमेन से सीख लेकर राज्य सरकार ने सरकारी स्कूलों में मुफ्त सेनेटरी नैपकिन पैड मुहैया करवाने का फैसला किया है। इसके तहत जिले में दस स्कूलों में वैंडर मशीनें लगाई जानी हैं। यह स्कूल कौन से होंगे इस पर तो अभी जिला शिक्षा विभाग के पास कोई जानकारी नहीं है पर पठानकोट नगर निगम ने स्वच्छता अभियान के तहत शहर के दो स्कूलों व दो कॉलेजों में पहले से ये मशीनें इंस्टॉल करवा रखी हैं। इन मशीनों को शहीद मक्खन ¨सह ग‌र्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल और एवलन ग‌र्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूलों के अलावा आर्य महिला कॉलेज और श्रीमति रमा चोपड़ा कॉलेज फॉर वूमन में मशीनों को इंस्टॉल करवाया गया है। निगम अधिकारियों के साथ इन कॉलेजों में मशीनें इंस्टॉल करने पहुंचे क‌र्ल्ज इंफोटेक इंडिया की महिला अधिकारियों ने स्टाफ और स्टूडेंट्स को मशीनों का इस्तेमाल करने संबंधी जानकारी भी दी थी, ताकि उनको किसी प्रकार की परेशानी न हों। वें¨डग मशीनों को स्कूल/कॉलेजों की लाइब्रेरी और इंसरनेटर को टॉयलेट में लगाया गया है। मशीनों में 10 रुपये का सिक्का डाल या 1-1 के 10 सिक्के डालकर छात्राएं 3 नैपकिन प्राप्त कर रही हैं।

शिक्षा विभाग की योजना में मदद करेगा निगम

निगम की हेल्थ ब्रांच के इंचार्ज डॉ. एनके ¨सह ने बताया कि इन मशीनों पर 2.60 लाख का खर्च आया है जबकि, इससे स्टूडेंट्स को काफी फायदा होगा। यह फंड सीएसआर (कार्पोरेट सोशल रिसपोौंसबिलिटी) स्कीम के तहत मिला था। बोले, सरकार की तरफ से यदि शहर के और स्कूलों में मशीनें लगाने की योजना बनती है तो वह उनकी मदद को तत्पर रहेंगे।

स्टॉक खत्म होने पर स्कूल स्टाफ को देनी होगी जानकारी : निगम अधिकारी

डॉ. एनके सिंह ने बताया कि नगर निगम अगले महीने से सोशल कैंपेन शुरू करेगा ताकि इस सब्जेक्ट पर छात्राओं की झिझक खत्म हो सके। बोले, बच्चेदानी के कैंसर की मुख्य जड़ मैन्सट्रुल हाइजीन नहीं होने से होती है। सोशल कैंपेन में ग‌र्ल्स स्टूडेंट्स को इसके बारे जागरूक किया जाना है। उन्होंने बताया कि क‌र्ल्ज इंफोटेक कंपनी ने हरेक मशीन में 540 पैड डाले हैं। उसके खत्म होने पर स्कूल स्टाफ कंपनी अधिकारियों को सूचित करेगा। कंपनी का कर्मचारी अगले ही दिन सिक्के निकालकर नए पैड डालेगा।

Posted By: Jagran