जेएनएन, पठानकोट। गणतंत्र दिवस की रात्रि करीब आठ बजे भारत-पाकिस्तान सीमा पर स्थित बीओपी डींडा के साथ तरनाह दरिया से एक पाकिस्तानी नाव बरामद हुई है। नाव पर उर्दू में गुलाम फजल लिखा है। बीएसएफ ने नाव कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है।

भारत-पाकिस्तान की जीरो लाइन पर स्थित गांव डींडा में सीमा सुरक्षा बल की पोस्ट बीओपी डींडा से करीब 1200 मीटर दूरी पर तरनाह दरिया बहता है। यह दरिया पाकिस्तान से भारत में प्रवेश करता है। इससे सीमा पर करीब 32 मीटर का गैप है। बीएसएफ की 132 बटालियन ने इस गैप पर नाकाबंदी की हुई है तथा यहां कांस्ट्रीना कोयल इंस्टाल किया है। साथ ही यहां थर्मल इमेज कैमरे लगाए हैं।

सीमा सुरक्षा बल के जवान वीरवार रात जब गश्त कर रहे थे तो उन्होंने वहां एक नाव फंसी देखी। जवानों ने तत्काल नाव कब्जे में लेकर उच्च अधिकारियों को सूचित किया। सीमा से मात्र 15 मीटर तथा बॉर्डर फेंसिंग से 10 मीटर पर पाकिस्तानी नाव मिलने के बाद बीएसएफ व पैरा मिलिट्री ने संयुक्त ऑपरेशन शुरू किया।

यह भी पढ़ें: असेंबली इलेक्शन: राजनाथ बोले- वोट न देना हो तो मत दीजिए, लेकिन जूते मत फेंकिये

एसएसपी नीलांबरी विजय जगदले ने बताया कि नाव कब्जे में लेकर जांच की जा रही है। फिलहाल उसमें कुछ भी संदेहास्पद वस्तु नहीं मिली है। फिर भी सुरक्षा के मद्देनजर बीएसएफ, पैरा मिलिट्री फोर्स तथा पुलिस ने संयुक्त ऑपरेशन शुरू कर दिया है। आसपास के क्षेत्र में रात्रि से ही सर्च अभियान जारी है। संभवत: 25 जनवरी को क्षेत्र में तूफान तथा बारिश के कारण यह नाव सीमांत क्षेत्र की ओर पानी के तेज बहाव में बह कर आई हो।

यह भी पढ़ें: पंजाब विधानसभा चुनाव: सीएम बादल बोले, हमने चूडिय़ां नहीं पहन रखीं

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!