जागरण संवाददाता, पठानकोट: गर्मी बढ़ने के साथ ही डेंगू मरीजों की संख्या बढ़ने लगती है। इसी के मद्देनजर सेहत विभाग ने लोगों को जागरूक करने के लिए टीमें गठित की हैं और गत वर्ष अधिक मरीजों वाले इलाकों को हाई रिस्क एरिया घोषित किया है। सेहत विभाग ने ऐसे 47 इलाकों को चिन्हित किया है। उक्त टीमें इन इलाकों में जाकर लोगों को जागरूक कर रही हैं। सोमवार को राष्ट्रीय डेंगू दिवस पर जिला एपिडेमियोलाजिस्ट डा. साक्षी के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की टीम माडल टाउन पहुंची, जहां उन्होंने लोगों को डेंगू से बचाव के टिप्स दिए।

बता दें कि 2021 में माडल टाउन से 53 मरीज सामने आए थे, जबकि जिले भर में 1700 से अधिक मरीज मिले थे। इस बार विभाग पहले से लोगों को जागरूक रहने के लिए प्रेरित कर रहा है। इस वर्ष जिले में अब तक दो डेंगू संक्रमित मरीज मिल चुके हैं। 2021 में माडल टाउन, लमीनी और ढाकी क्षेत्र हुए थे अधिक प्रभावित

सेहत विभाग से मिली जानकारी के अनुसार 2021 में पठानकोट के लमीनी, ढाकी, माडल टाउन, ढांगू और सैली कुल्लियां सबसे अधिक प्रभावित रहे। इनमें 50 से अधिक मामले रिपोर्ट किए गए हैं। इसके अलावा 42 मोहल्ले ऐसे हैं, जहां छह से 45 तक मामले सामने आए। जिला एपिडेमियोलाजिस्ट डा. साक्षी का कहना है कि घनी आबादी वाले अधिक प्रभावित रहे। इस बार लोगों को पहले से जागरूक किया जा रहा है, ताकि बरसाती सीजन से पहले लोग जागरूक हों और डेंगू को फैलने से रोका जा सके। उन्होंने कहा कि हाई रिस्क एरिया में जाकर सेहत विभाग की टीमें जागरुकता अभियान चला रही हैं। लोग जागरूक हों तो डेंगू को फैलने से रोका जा सकता है

Edited By: Jagran