जागरण टीम, शाहपुरकंडी/जुगियाल : केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र शेखावत का रंजीत सागर बांध का दौरा टल गया। मंगलवार को दिनभर केंद्रीय मंत्री का इंतजार होता रहा पर देर सायं को उनका आगमन स्थगित कर दिया गया। शेखावत के बुधवार को आने की संभावना जताई जा रही है। मंगलवार सुबह पंजाब के जल मंत्री सुखविद्र सिंह सरकारिया शाहपुरकंडी पहुंच गए थे और दिनभर वहीं रहे। केंद्रीय मंत्री के न आने की वजह पहले मौसम खराब होने के कारण हेलीकॉप्टर के न आने की जाहिर की गई। मौसम साफ होने के बाद केंद्रीय मंत्री के आने की उम्मीद जगी, पर करीब पांच बजे दौरा स्थगित होने का एलान हुआ। कैबिनेट मंत्री सुखविद्र सरकारिया के साथ डीसी गुरप्रीत खैरा, आरएसडी चीफ इंजीनियर एसके सलूजा मौके पर मौजूद रहे।

कैबिनेट मंत्री सुखविद्र सरकारिया के साथ डीसी गुरप्रीत खैरा, आरएसडी चीफ इंजीनियर एसके सलूजा मौके पर मौजूद रहे। उन्होंने रावी सदन में बांध अधिकारियों, जिला प्रशासन व अन्य अधिकारियों से बैराज बांध पर चल रहे निर्माण कार्यो की समीक्षा की। सरकारिया ने बताया कि जहां केंद्र सरकार इस प्रोजेक्ट को शीघ्र निर्धारित समय पर पूरा करने के लिए प्रयासरत हैं, वहीं पंजाब सरकार भी इस प्रोजेक्ट को सिरे चढ़ाने में पूरा योगदान दे रही है। केंद्र सरकार के साथ

हुए एग्रीमेंट के तहत केंद्र सरकार 60 प्रतिशत तथा पंजाब सरकार 40 प्रतिशत तक का फंड देने के लिए बात हुई थी। बैराज बांध का सबसे अधिक लाभ जम्मू कश्मीर राज्य को मिलेगा। इसके लिए पंजाब सरकार ने केंद्र सरकार को अपने पक्ष को दलील सहित अवगत करवाया। 14 फीसद हिस्सा पंजाब सरकार देगी

सरकारिया ने बताया कि केंद्र सरकार 86 प्रतिशत फंड इस प्रोजेक्ट के निर्माण के लिए देगी तथा 14 प्रतिशत पंजाब सरकार ही देगी। केंद्र ने 135 करोड़ रूपए की राशि स्वीकृत की है तथा पंजाब सरकार भी अपना बनता हिस्सा 21 करोड़ रुपये शीघ्र देगी। बैराज बांध बनने से 206 मेगावाट बिजली उत्पादन तथा लगभग 33 हजार हेक्टेयर भूमि जम्मू कश्मीर को सिचाई के लिए पानी मिलेगा। इस अवसर पर सिचाई विभाग के स्पेशल सचिव कर्णेश शर्मा, एसएसपी दीपक हिलोरी, एडीसी अभिजीत कपलिस, एसपी हेमपुष्प शर्मा, एसई हेडक्वार्टर नरेश महाजन, एसडीएम डॉ निधि कलोत्रा, एसई केसी भगत, एसई जेपी सिंह, एचएस बगगा, लखविद्र सिंह, एमएम गिल, अनुराग ग्रोवर, एसके सैनी व अन्य उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!