जागरण संवाददाता, पठानकेाट: सिविल अस्पताल पठानकोट में शुक्रवार को होम्यिपैथिक मेडिकल अफसर डा. ओपी विग की ओर से डेंगू से बचाव के बारे में जागरूकता सेमिनार का आयोजन किया गया। इस मौके पर डा. ओपी विग ने कहा कि डेंगू मच्छर से होने वाले बुखार को हड्डी तोड़ बुखार भी कहा जाता है, क्योंकि इससे शरीर के जोड़ों में बहुत दर्द होता है। इसका मच्छर दिन के समय में काटता है, इसलिए मच्छर से बचाव संबंधी सभी उपाय उपयोग में लाने चाहिए। साफ पानी में इसका लारवा पैदा होता है, इसलिए अपने घरों के आसपास सफाई रखें ताकि कहीं भी ज्यादा दिनों तक पानी एकत्रित न होने दें।

उन्होंने कहा कि हर घर को यह एक नियमित रूप से आदत बना लेनी चाहिए कि सप्ताह में कम से कम एक बार घर की चेकिग करें और सफाई के साथ यह भी तय करें कि कहीं ज्यादा दिनों से पानी तो एकत्रित नहीं हुआ। डेंगू के लक्षण पाए जाने पर तुरंत माहिर डाक्टर से संपर्क करना चाहिए ताकि समय पर इसका उपचार शुरू किया जा सके। इस मौके पर उनके साथ होम्यिपैथिक डिस्पेंसर अजय मल्होत्रा व अन्य गणमान्य भी उपस्थित थे।

Edited By: Jagran