संवाद सहयोगी, घरोटा: रेलवे ट्रैक के स्लीपरों की मरम्मत के चलते मीरथल रेलवे फाटक छह दिन से बंद है। इससे 20 गांवों का यातायात प्रभावित हो रहा है। वहीं उत्तर भारत के प्रसिद्ध तीर्थ स्थान काठगढ़ मंदिर के श्रदालुओं को भी फाटक बंद होने के कारण खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

प्रभावित लोगों ने रेलवे की सुस्त कार्य कार्यशैली के चलते रोष प्रदर्शन किया और कार्य में तेजी लाकर काम को जल्द मुकम्मल करने की मांग की है। इस संबंध में जानकारी देते हुए संजीव महाजन, प्रभात शर्मा, मिटू, विक्कू, कुलवंत सिंह, पवन कुमार, सनी, काला, सतनाम, लवली, पिटू, रिकू इत्यादि ने कहा कि 15 तारीख से उक्त मरम्मत कार्य के चलते फाटक बंद है। इससे लोगों व खासतौर पर काठगढ़ महादेव मंदिर को जाने वाले श्रद्धालु परेशान हैं। वहीं, मीरथल, नालूंगा, घेबे, घियाला, काठ गढ़, बाई, टिब्बी, मंड आदि गावों के लोगों को नेशनल हाईवे व हिमाचल को जाने के लिए बाया नंगल व इंदौरा से जाना पड़ रहा है। इससे उनको 15 किलोमीटर का अतिरिक्त सफर तय करने को विवश होना पड़ रहा है।

लोगों ने जिला प्रशासन तथा रेलवे विभाग के उच्च अधिकारियों से पुरजोर मांग करके इस कार्य को तेजी से मुकम्मल करने की मांग की है। उधर, जब इस संबंध में रेलवे अधिकारी से बात की गई तो उनका कहना था कि ट्रैक के स्लीपरों की मरम्मत करना आवश्यक था। काम चल रहा है। इसी कारण कारण फाटक बंद है। अभी दो दिन और काम चलेगा। 15 किमी. अतिरिक्त सफर करने को विवश: संजू महाजन

संजू महाजन ने कहा कि मीरथल में रेल ट्रैक की मरम्मत के चलते हम लोगों को 15 किलोमीटर का अतिरिक्त सफर तय करने को विवश होना पड़ता है। इससे समय की बर्बादी भी होती है। हिमाचल पंजाब के गांव का टूटा संपर्क: सुतीक्षण सिंह

सुतीक्षण सिंह ने कहा कि रेलवे ट्रैक की मरम्मत के चलते उक्त रूट से हिमाचल व पंजाब का संपर्क टूटा हुआ है। इससे यातायात प्रभावित हुआ है। लोग लंबे व अन्य मार्गों से जाने को विवश हैं। फसलों के मंडीकरण को लेकर किसान परेशान: लखविदर सिंह

जत्थेदार सरपंच लखविदर सिंह ने कहा कि ट्रैक की मरम्मत के चलते फाटक बंद होने के कारण किसानों को गन्ने की फसल मिल में ले जाने में दिक्कत पेश आ रही है। उन्हें मुकेरियां, दसुआ इत्यादि मिलों में जाने के लिए 15 किलोमीटर का अतिरिक्त सफर तय करने को विवश होना पड़ रहा है। व्यापार हुआ चौपट: प्रभात

प्रभात शर्मा ने कहा कि फाटक पार पड़ते गांवों के लोग सामान खरीदने के लिए मीरथल अड्डे पर नहीं आ रहे। इससे पिछले कुछ दिनों से व्यापार प्रभावित है। उन्होंने कहा कि दुकानदार पहले ही मंदी के शिकार हैं। कार्य में तेजी से लाई जाए : रोहित

रोहित ने कहा कि मरम्मत के काम में तेजी लाई जाए, ताकि व्यापारी वर्ग, कर्मचारी, स्थानीय लोगों, किसानों व श्रद्धालुओं को परेशानी का समाधान हो सके।

Edited By: Jagran