माधोपुर (पठानकोट), जेएनएन। क्रिकेटर सुरेश रैना के गांव थरियाल में रहने वाले फूफा ठेकेदार अशोक कुमार के घर पर 19 अगस्त को हुए जानलेवा हमले के 15 दिन बाद पुलिस ने हत्या की धारा भी जोड़ दी है। इस हमले में अशोक कुमार की घटना की रात को ही मौत हो गई थी, जबकि उनके बेटे की मौत एक सितंबर को हो गई थी। वहीं, रैना की बुआ आशा देवी कोमा में चली गई हैं। उनकी हालत अब भी गंभीर बनी हुई है। रैना के फूफा अशोक कुमार और फुफेरे भाई की मौत हाे चुकी है।

गांव थरियाल में रैना के फूफा के परिवार पर हमले के 15 दिन बाद पुलिस ने दर्ज किया हत्‍या का केस

रैना की बुआ आशा देवी को अब पठानकोट के एक अन्य निजी अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया है। यहां उनका उपचार न्यूरो स्पेशलिस्ट डॉक्टर अनिल गर्ग करेंगे। हमलावरों ने आशा देवी के सिर पर कई वार किए थे जिस कारण उनके सिर में गहरे जख्म हो गए हैं।  उनकी हालत नाजुक बनी हुई है। डॉक्टरों के अनुसार सिर में गहरी चोटों में धीरे-धीरे सुधार देखा जा रहा है लेकिन डीप कोमा में होने के कारण सही स्थिति के बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता। इस स्थिति से उबरने में उन्हें लंबा समय लग सकता है।

सर्च के दौरान मिला मोबाइल

एआइजी स्पेशल क्राइम ब्रांच ओपिंदरजीत सिंह घुम्मण की अगुआई में गांव थरियाल के आसपास चलाए गए सर्च के दौरान पुलिस को एक मोबाइल हाथ लगा है। इसके आधार पर थाना शाहपुरकंडी में पहले से दर्ज सेंध लगाकर लूट व मारपीट के मामले में हत्या और हत्या की कोशिश की धारा भी जोड़ ली है।

वहीं, बरामद मोबाइल जांच के लिए एफएसएल टीम को सौंपा गया है। टीम पता लगाने में जुटी है कि यह फोन किसका है और खेत में कैसे पहुंचा। यह भी पता लगाया जाएगा कि इस फोन से कहां और कितनी बार फोन किए गए हैं। इसके साथ ही आरोपितों तक पहुंचने के लिए एसआइटी अब साल 2018 के बाद क्षेत्र हुई लूट की सभी वारदातों को खंगालने में जुट गई है।

संदिग्धों को ट्रेस करने की कोशिश

वारदात को अंजाम देने के पीछे पुलिस को कुछ संदिग्धों पर शक है। यह माना जा रहा है कि यह आरोपित हिमाचल या साथ लगते जम्मू-कश्मीर में किसी अज्ञात स्थान पर छिपे हैं। इन संदिग्धों के फोन भी स्विच ऑफ हैं। पुलिस किसी तरह इनकी लोकेशन ट्रेस करने में जुटी है।

परिवार को सुंघाया था नशीला पदार्थ

सुरेश रैना के फूफा ठेकेदार अशोक कुमार के परिवार पर हमला करने से पहले कोई नशीला पदार्थ सुंघाया था। हमले के बाद सोना और नकदी लूट कर हमलावर फरार हो गए थे। अशोक कुमार के छोटे बेटे अपिन के जबड़े में गंभीर चोट है इसलिए वह बोल नहीं पा रहा है।

--

पुलिस टीमें लगातार कर रही छापामारी : एसएसपी

एसआइटी के सदस्य व एसएसपी पठानकोट गुलनीत खुराना का कहना है कि पुलिस टीमें लगातार जम्मू और हिमाचल प्रदेश में दबिश दे रही हैं। कुछ पुरानी वारदातों के इनपुट भी खंगाले जा रहे हैं। जल्द मामले को सुलझा लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: Exclusive interview: हरियाणा कांग्रेस प्रधान सैलजा बोलीं- सोनिया को 23 नेताओं का पत्र लिखना हैरानीजनक

 

यह भी पढ़ें:  लड़ाकू विमान राफेल को पक्षियों से खतरा, अंबाला एयरफोर्स स्टेशन को लेकर IAF ने हरियाणा सरकार को पत्र 

 

यह भी पढ़ें: पंजाब पोस्ट मैट्रिक स्काॅलशिप घोटाले पर पर्दा डालने के लिए बुना गया था फाइलों का जाल

 

यह भी पढ़ें: हरियाणा के लखनौर साहिब में हैं श्री गुरु गोबिंद सिंह का ननिहाल, यहां बिताए थे बचपन के दिन

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!