जागरण संवाददाता, पठानकोट : उत्तर रेलवे मजदूर यूनियन की ओर से सोमवार को पठानकोट में ललकार रैली का आयोजन किया गया। शाखा पठानकोट की ओर से आयोजित ललकार रैली में मंडल प्रधान मनोहर पराशर, सचिव राजेश कुमार व सहायक सचिव कामरेड दलजीत सिंह मुख्य मेहमान के रुप में पहुंचे। इसके इलावा मंडल की विभिन्न 18 शाखाओं के सचिव व प्रधान पहुंचे। इस दौरान उपस्थित सदस्यों ने केंद्र सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों की जमकर निदा करते हुए मोदी सरकार को कर्मचारी विरोधी सरकार करार दिया।

मंडल प्रधान मनोहर पराशर व सहायक सचिव कामरेड दलजीत सिंह ने कहा कि देश की आर्थिक स्थिति पूरी तरह से डगमगा चुकी है। कर्मचारियों की हितैषी कहलाने वाली मोदी सरकार ने रेलवे में निगमीकरण और निजीकरण को बढ़ावा देकर साबित कर दिया है कि वह कर्मचारी विरोधी सरकार के रुप में काम कर रही है। कहा कि रेलवे में तेजी से निगमीकरण किया जा रहा है जिसे कर्मचारी किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेंगे। रेल मंत्रालय ने यदि ठेकेदारी प्रथा को समाप्त न किया तो समूह रेल कर्मचारी रेल का चक्का जाम करने के लिए मजबूर हो जाएंगे। शाखा सचिव मंगत राम सैनी ने कहा कि लोक सभा चुनाव से पूर्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि दोबारा सत्ता में आए तो रेलवे में हो रहे निजीकरण व निगमीकरण कार्य को ब्रेक लगाएंगे। लेकिन, दुख की बात है कि सत्ता में आते ही इसे बंद करना तो दूर की बात हो गई उल्टा बढ़ावा दिया जा रहा है। इस मौके पर ब्रांच सचिव मंगत राम सैनी, प्रधान हरजिद्र कुमार, वाइस प्रधान कालू राम, अशोक कुमार, राज कुमार, आकाश चंद्र, असिस्टेंट सेक्रेटरी सर्बजीत सिंह, प्रशांत कुमार, सुमित खोखर, महिला विग प्रधान किरण बाला, सचिव प्रवीण कुमारी, सुरेंद्र कुमार आदि मौजूद थे।

विनोद कुमार, पठानकोट।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!