राज चौधरी, पठानकोट : कोविड-19 के दौरान पावरकॉम विभाग की ओर से होटल एवं रेस्टोरेंट्स को इलेक्ट्रिक और संडरी चार्जेज जमा कर लाखों रुपये के बिल भेजने पर एसोसिएशन ने रोष जताया है। विभाग की इस कार्रवाई को एसोसिएशन ने उनके साथ धोखा तथा ठगी करार दिया है। पदाधिकारियों ने बैठक कर एक पत्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री पंजाब कैप्टन अमरिदर सिंह, सांसद सनी देओल तथा पठानकोट के विधायक अमित विज को भी लिखा है। इस पत्र में खास तौर पर कहा गया है कि सरकार की ओर से यदि कोविड-19 के दौरान होटल एवं रेस्टोरेंट्स को तीन माह का बिजली बिल माफ नहीं किया तो वे अपने प्रतिष्ठानों को ताले लगा देंगे तथा सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतर जाएंगे। वैसे भी सरकार की ओर से आए दिन कई तरह से टैक्स लगाकर इन दिनों होटल एवं रेस्टोरेंट कारोबार को शून्य कर दिया गया है।

.....................

पुरानी इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी तथा संडरी चार्जेज लगा भेजे बिल

एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने आरोप लगाया कि कोरोना के कारण कारोबार बंद पड़ा हुआ है। ऐसे में होटल व रेस्टोरेंट में काम करने वाल कर्मचारियों का खर्चा निकालना भी मुश्किल हो चुका है। तीन माह से कारोबार पूरी तरह से बंद है। ऐसे में सरकार की ओर से होटल मालिकों को निशाना बनाकर उन्हें विगत वर्षों की इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी तथा संडरी चार्जेज डाल कर लाखों रुपये के बिल भेजे जा रहे हैं। परंतु एसोसिएशन इस सहन नहीं करेगी।

.....................

जम्मू-कश्मीर तथा हिमाचल पैटर्न पर बिजली दे सरकार

पठानकोट होटल एवं रेस्टोरेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष तथा पंजाब उपाध्यक्ष राकेश औल, महासचिव देवेंद्र सिंह मिटू, उपप्रधान नितिन लाडी, कोषाध्यक्ष सुभाष गुप्ता तथा पंकज पुरी ने कहा कि पावरकॉम विभाग ने लाखों रुपये के बिल सरचार्ज के साथ उन्हें भेजे हैं। उन्होंने कहा कि होटल एवं रेस्टोरेंट इंडस्ट्री सिर्फ जम्मू-कश्मीर तथा हिमाचल पैटर्न पर पंजाब सरकार को बिजली बिल देगी। पजाब में लगातार महंगी हो रही बिजली के कारण ही जिला पठानकोट के कारोबारी अकसर ही पठानकोट के साथ लगते हिमाचल प्रदेश तथा जम्मू कश्मीर एरिया में इंडस्ट्री लगाने को तवज्जो दे रहे हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!