संवाद सहयोगी, पठानकोट: सिविल सर्जन डा. रुबिदर कौर के निर्देशानुसार जिला सेहत अधिकारी ने लोगों को ट्रैफिक नियमों का पालन करने की अपील की है।

जानकारी देते जिला सेहत अधिकारी डा. सुनीता शर्मा ने बताया कि भारत में रोजाना लगभग 1214 सड़क हादसे होते हैं। वहीं, दोपहिया वाहन से हुए सड़क हादसों में 25 प्रतीशत लोगों की मौत हो जाती है। 14 वर्ष की कम आयु के लगभग 20 बच्चे रोजाना सड़क हादसों का शिकार होते हैं। भारत में सालाना करीब 45000 सड़क हादसों में 150000 लोगों की मौत हो जाती है। सड़क दुर्घटनाओं का मुख्य कारण लापरवाही से गाड़ी चलाना है। इसलिए ड्राइविग करते समय नियमों की पालना जरूर करें। सीट बेल्ट डाल कर गाड़ी चलाएं, गाड़ी चलाते समय मोबाइल का उपयोग न करें, ऊंची आवाज में म्यूजिक न लगाएं, शराब पीकर गाड़ी न चलाएं यह कानूनी अपराध है।

इसके साथ ही जिला सेहत अधिकारी ने लोगों से रोड सेफ्टी नियमों का पालन करने, गाड़ी की नियमित सर्विस करवाने, ड्राइविग के समय दूसरी गाड़ी से नियमित दूरी बना कर रखने, दाईं ओर से ओवरटेक करने, इमरजेंसी वाहनों, एंबुलेंस को रास्ता देने, दोपहिया गाड़ी चलाते समय हेलमेट का उपयोग करने तथा 18 वर्ष के कम के बच्चों को वाहन न चलाने देने तथा वाहन चलाते समय लाइसेंस व अन्य जरूरी दस्तावेज अपने साथ हमेशा रखने की भी अपील की। इसके साथ ही इस बात की जानकारी भी दी गई कि किसी भी प्रकार की दुर्घटना होने पर 108 पर संर्पक करें।

Edited By: Jagran