जागरण संवाददाता, पठानकोट: व्यापार मंडल पठानकोट की विशेष बैठक प्रधान अमित नैय्यर की अध्यक्षता में आयोजित की गई। इस दौरान प्रदेश सचिव सुनील महाजन, जिला चेयरमैन वेद प्रकाश, जिला प्रभारी भारत महाजन, चीफ पैटर्न राजेश शर्मा, जनरल सेक्रेटरी अरुण गुप्ता, कैशियर रमन हांडा, पीआरओ नरेंद्र वालिया, कनवीनर कुलदीप सिंह, दविदर सिंह, राजीव महाजन ने संयुक्त रूप से कहा कि केंद्र सरकार ने एक जुलाई से सिगल यूज प्लास्टिक को बनाने आयात, निर्यात और बिक्री पर पूरी तरह से पाबंदी लगाने का एलान कर दिया है। कहा जा रहा है कि इससे पर्यावरण को सबसे ज्यादा नुकसान होता है। पर्यावरण को बचाने के लिए केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। पर्यावरण मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि देश में एक जुलाई से सिगल यू•ा प्लास्टिक पर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी जाएगी। केंद्र सरकार पर्यावरण संरक्षण अधिनियम 1986(29) की धारा 6 और धारा 8 और धारा 25 द्वारा प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए प्लास्टिक अपशिष्ट प्रबंधन नियम 2016 में संशोधन करने के लिए नियम बनाया है। इसमें हर प्रकार के प्लास्टिक के ऊपर पाबंदी लगाने का प्रावधान दिया गया है।

प्रधान अमित नैय्यर ने कहा कि व्यापारी वर्ग हमेशा ही सरकार द्वारा बनाए गए कानून और नियमों का पालन करता है। मगर सरकार को भी व्यापारी वर्ग के लिए कोई भी कानून या नियम बनाने से पहले उसका विकल्प जरूर ढूंढ लेना चाहिए। उन्होंने निगम और प्रशासन से मांग की कि जो एक जुलाई से यह कानून सख्ती से लागू किया जा रहा है उसमें चालान काटना के बजाय पठानकोट क्षेत्र के सभी व्यापारिक अदारों को एक हफ्ते का समय दिया जाए। प्रशासन को इस कानून संबंधी जागरूक करने के लिए इश्तिहार या सेमिनार द्वारा व्यापारी वर्ग का मार्गदर्शन किया जाए।

Edited By: Jagran