संस, पठानकोट : ऑल इंडिया बैंक इंप्लाइज फेडरेशन और अन्य यूनियनों के आह्वान पर दूसरे दिन भी जिले भर के बैंकों में लेनदेन नहीं हो सका। बैंक कर्मचारियों के हड़ताल पर चले जाने के कारण दूसरे दिन भी जहां करोड़ों रुपये के राजस्व का नुकसान हुआ वहीं दूसरी ओर लोगों को बैंकों से नकदी न मिलने के कारण उन्हें वापस मायूस लौटना पड़ा। हालांकि आज दूसरे दिन जिले भर के कुछेक बैंक मैनेजरों की ओर से बैंकों को खोल कर ऑनलाइन वर्किंग की गई। जबकि लेनदेन का काम नहीं किया गया। बैंक से नकदी न मिलने के कारण बजरी कंपनी निवासी हेमंत ने बताया कि उन्हें किसी व्यक्ति को चैक काट कर दिया गया था जिस कारण उन्हें हर हाल में पैसा जमा करवाना था ताकि चेक बाउंस न हो परन्तु पैसा जमा न होने के कारण उन्हें मायूस होकर वापस जाना पड़ा है।

सुमेश ¨सह ने बताया कि उन्हें पठानकोट से बाहर जाने के लिये पैसों की सख्त जरूरत थी परन्तु नकदी न मिलने के कारण उन्हें अपना टूर रद करना पड़ा।

दीपिका बब्बर तथा बलजिन्द्र ¨सह ने बताया कि उन्हें अपने बच्चों की तीन माह की फीस जमा करनी थी जिसकी आज अंतिम तारीख थी परन्तु पैसा न मिलने के कारण उन्हें वापस घर जाना पड़ा है। उन्होंने बताया कि बच्चों की फीस न तो वह चैक द्वारा दे सकते हैं तथा न ही उनके पास एटीएम है। ऐसे में अब उन्हें किसी से उधार लेकर ही काम चलाना पड़ेगा। उधर, हड़ताल पर बैठे कर्मचारियों ने चेताया है कि यदि उनकी मांगें पूरा न होगी तो आगामी दिनों में वह सड़कों पर उतर आएंगे।

सिर्फ ऑनलाइन चेक ही हुए पास

बैंक कर्मचारियों के आज दूसरे दिन भी हड़ताल पर रहने के कारण जहां जिले भर के बैंकों में नकद लेन-देन नहीं हो सके वहीं दूसरी ओर उपभोक्ताओं को राहत पहुंचाने के लिये सरकारी बैंक के ब्रांच मैनेजरों तथा मैनेजरों ने आरटीजीएस,नेफ्ड तथा चैक क्ले¨रग कर आम लोगों तथा व्यापारी वर्ग को कुछेक राहत पहुंचाई। व्यापारियों की ओर से जिले के बाहर से की गई खरीददारी की पेमेंट आनलाइन कर काम चलाया गया। बैंकों में तैनात मैनेजरों ने भी इस बात को माना कि नकद लेन-देन न होने के कारण कई लोगों को परेशानियां उठानी पडी। उन्होंने बताया कि वीरवार से बैंकों में लेन-देन सामान्य हो जाएगा।

मांगें न मानी गई तो फिर करेंगे हड़ताल : सुदेश शर्मा

फेडरेशन के पंजाब उपप्रधान सुदेश शर्मा तथा जिला सचिव सतीश कुमार ने बताया कि सरकार को हर हाल में कर्मचारियों की मांगों को मानना होगा। उन्होंने बताया कि उन्हें पिछले लंबे समय से बली का बकरा बनाया जा रहा है तथा लगातार बैंक कर्मचारियों पर काम को लोड़ डाला जा रहा है। उनके साथ किये गये वायदों को आज तक पूरा नहीं किया जा रहा है तथा न ही उनकी मांगों की ओर ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने चेताया कि यदि सरकार ने बैंक कर्मचारियों की मांगों को तत्काल पूरा न किया तो बैंक कर्मी भविष्य में हड़ताल पर चले जाएंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!