जागरण संवाददाता, पठानकोट: शनिवार को धुंध की चादर में लिपटे शहर को कड़ाके की ठंड ने अपनी चपेट में ले लिया। पठानकोट में अमृतसर जितनी सर्दी रही। अधिकतम पारा 13.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। दिनभर लोग को हड्डिया गला देने वाली ठंड का सामना करना पड़ा। बाजारों, बस स्टैंड और रेलवे स्टेशन जैसे सार्वजनिक स्थलों पर सामान्य दिनों के मुकाबले काफी कम लोग दिखे। हालाकि, दोपहर में बादलों को चीरती हुई हल्की धूप निकली पर इससे कुछ खास राहत नहीं मिली। दुकानदारों की मानें तो त्योहार के दिन होने अथवा शादियों का सीजन होने के बावजूद कड़ाके की ठंड पड़ने के चलते बाजार में उतनी चहल पहल नहीं है, जितनी सामान्य दिनों में भी रहती है।

बता दें कि साल की शुरुआत में तीन दिन कड़ाके की ठंड पड़ी थी और न्यूनतम पारा डेढ़ से दो डिग्री के बीच में दर्ज किया गया था और लोगों को हड्डिया गलाने वाली ठंड सहनी पड़ी थी। मौसम विभाग की मानें तो आने वाले पाच से छह दिनों तक लोगों को कड़ाके की ठंड से राहत मिलने के आसार नहीं हैं। अगले दो दिनों तक धुंध रहने जबकि आसमान में अधिकतर बादल छाए रहने की संभावना जताई गई है।

Edited By: Jagran