जासं, पठानकोट : वीरवार को मौसम खिला-खिला सा रहा। दोपहर में धूप खिली रही। हालांकि, पहाड़ों पर हुई बर्फबारी के चलते हवा में खासी ठंडक रही। इससे लोगों को खिली धूप में भी गर्माहट महसूस नहीं हुई। लोगों को अभी भी कड़ाके की ठंड बर्दाश्त करनी पड़ रही है। बीते दो दिनों से हालांकि, लोगों को बारिश से राहत मिल गई है, पर सुबह-शाम पड़ने वाली धुंध ने जनजीवन की रफ्तार कुछ धीमी जरूर कर दी है। सुबह करीब नौ बजे तक हाईवे पर घनी धुंध छाई थी। इसके चलते वाहनों की रफ्तार भी कम रही। वहीं, वीरवार को भी कुछ ट्रेनों के अपने निर्धारित समय से लेट चलने की सूचना है। रेलवे की ओर से दी गई सूचना में बताया गया है कि जम्मू-दिल्ली में चलने वाली राजधानी एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय से 40 मिनट से अधिक समय से लेट चल रही है, जबकि शालीमार एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय से एक घंटा, पूजा एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय से 45 मिनट, मालवा एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय से 40 मिनट, स्वराज एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय से 45 मिनट, हिमगिरी एक्सप्रेस 1 घंटे से अधिक समय से जबकि सियालदाह एक्सप्रेस भी अपने निर्धारित समय से एक घंटा 35 मिनट देरी से चल रही है। इसी तरह लंबे रूट की बसें भी सुबह-शाम पड़ने वाली धुंध के चलते सामान्य दिनों के मुकाबले यात्रियों को गंतव्यों तक पहुंचाने में ज्यादा समय लगा रहीं हैं।

मौसम विभाग की मानें तो आने वाले कुछ दिनों तक लोगों को कड़ाके की ठंड का सामना करना पड़ेगा। हालांकि, मौसम विभाग की ओर से दो दिन बाद धुंध छंटने व आसमान साफ रहने की संभावना जताई है। बता दें कि वीरवार को जहां न्यूनतम तापमान छह डिग्री तक रहने की संभावना जताई गई है, वहीं, अधिकतम तापमान 17 डिग्री दर्ज किया गया। बताया गया है कि पहाड़ों पर हुई बर्फबारी के चलते शीतलहर चलने के कारण ही खिली धूप होने के बावजूद अधिकतम तापमान 20 डिग्री से कम रहा।

Edited By: Jagran